गैंगरेप कर 13 साल की बच्ची को नदी में फेंका:डूबने से मौत; 3 दिन पहले दोस्ती की, मिलने बुलाकर दोस्त से भी रेप कराया

सागर की देहार नदी में मृत मिली 13 साल की बच्ची के साथ गैंगरेप हुआ था। ज्यादा खून बहने की वजह से बच्ची बेहोश गई। मरा समझकर आरोपी उसे नदी में फेंक आए थे। पुलिस ने मंगलवार को तीन आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। इनमें से एक मददगार है। पुलिस ने उसे भी आरोपी बनाया है।

बच्ची बिलहरा से 20 अप्रैल को लापता हुई थी। परिजन ने बिलहरा चौकी में गुमशुदगी दर्ज कराई। दो दिन बाद 23 अप्रैल को रानगिर की देहार नदी में उसका शव उतराता मिला था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में उसके साथ दुष्कर्म और पानी में डूबने से मौत की बात सामने आई है।

मुख्य आरोपी से बच्ची की दोस्ती घटना से तीन दिन पहले ही हुई थी। आरोपियों को उनके घर से ही पकड़ा गया है।

पुलिस गिरफ्त में गैंगरेप और हत्या के आरोपी।
पुलिस गिरफ्त में गैंगरेप और हत्या के आरोपी।

19 की रात आई कॉल से पुलिस को मिली लीड
20 अप्रैल को शिकायत मिलने के बाद बिलहरा पुलिस ने बच्ची की तलाश शुरू की। वह मोबाइल नहीं रखती थी। पुलिस ने परिवार के मोबाइल की कॉल डिटेल निकलवाई। 19 अप्रैल की रात आए कॉल पर संदेह हुआ। इस नंबर की लोकेशन रानगिर में मिली। पुलिस रानगिर में उस युवक तक पहुंच गई, जिसके नंबर से कॉल आया था। पूछताछ में उसने बताया कि उसकी सैलून की दुकान है। रोजाना लोग आते-जाते हैं। लड़की भी आई होगी। उसे नहीं पता कि लड़की कहां गई।

सीसीटीवी में परिचित के साथ बाइक पर दिखी लड़की
युवक से पूछताछ के बाद पुलिस ने रानगिर मेले में लगी दुकानों के सीसीटीवी कैमरों के फुटेज चेक किए। बच्ची दीपक पटेल (25) के साथ बाइक पर बैठी दिखी। पुलिस ने उसे बिलहरा से हिरासत में ले लिया। इस बीच बच्ची का शव देहार नदी में उतराता मिला।

दीपक ने पुलिस को बताया कि वह बच्ची के मोहल्ले में ही रहता है। उसने रानगिर जाने का बोला तो ले गया था। रानगिर में वह बाइक से उतरकर चली गई थी। पुलिस ने 25 से ज्यादा लोगों के बयान लिए। पता चला कि बच्ची सैलून पर गई थी। 19 अप्रैल की रात जिस युवक से बात हुई थी, सैलून उसी का है।

पुलिस ने सैलून से श्याम मिलन (19) निवासी पाटई को उठाया। थाने लाकर पूछताछ की तो उसने अपने एक और साथी अक्षय सेन (19) का नाम बताया।

जांच के दौरान सीसीटीवी फुटेज में बच्ची मोहल्ले के दीपक के साथ नजर आई।
जांच के दौरान सीसीटीवी फुटेज में बच्ची मोहल्ले के दीपक के साथ नजर आई।

मिलने बुलाकर बीहर नदी ले गया, दोस्त को भी बुलाया
बिलहरा पुलिस चौकी प्रभारी अभिषेक पटेल के मुताबिक, आरोपी श्याम ने पूछताछ में बताया कि बच्ची से उसकी पहचान चैत्र नवरात्र के मेले में हुई थी। 17 अप्रैल को बच्ची परिवार के साथ रानगिर मेले में आई थी। एक-दूसरे को मोबाइल नंबर दिए थे। 18 अप्रैल की सुबह वह परिवार के साथ बिलहरा वापस गई।

19 अप्रैल की रात आरोपी श्याम से बात होने पर उसने मिलने के लिए उसे रानगिर बुलाया। 20 अप्रैल को बच्ची दीपक पटेल की मदद लेकर बाइक से रानगिर पहुंची। भीड़ में बाइक से उतरकर वह श्याम के सैलून पहुंची। यहां से श्याम उसे देहार नदी किनारे जंगल ले गया।

आरोपी ने उसके साथ रेप किया। अपने दोस्त को भी बुलाकर रेप कराया। बच्ची के बेहोश होने पर आरोपी घबरा गए और उसे मरा समझकर नदी में फेंक आए।

दो दिन सैलुन दुकान बंद रखी
वारदात के बाद आरोपी बिना किसी डर के घर में रह रहे थे। दो दिन तक उन्होंने अपनी सैलुन की दुकान बंद रखी। पुलिस आरोपियों की तलाश करते हुए उनके घर पहुंची। वे घर पर ही मिले। पुलिस ने आरोपियों के सैंपल लेकर डीएनए जांच के लिए भेजे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *