5वीं-8वीं बोर्ड परीक्षा: परीक्षा देनी है तो ब्रेल पेपर-राइटर खुद लाओ

जबलपुर. स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित की जाने वाली पांचवी-आठवीं की बोर्ड परीक्षाओं में दिव्यांग छात्रों के सामने मुश्किलें खड़ी हो गई हैं। शिक्षा विभाग के पास न तो परीक्षा कराने के लिए ब्रेल पेपर उपलब्ध हैं न ही राइटर को देने के लिए राशि। अर्थात परीक्षाओं में दोनों ही चीजों की व्यवस्था छात्रों को स्वयं करना होगी। छात्र मांग कर रहे थे कि उन्हें भी अन्य परीक्षाओं के समक्ष सुविधा प्रदान की जाए, हालांकि विभाग ने छात्रों को किसी भी प्रकार की रियायत देने से मना कर दिया है।

मात्र 20 मिनट का अतिरिक्त समय
विभाग ने छात्रों के लिए परीक्षा में 20 मिनट का अतिरिक्त समय देने का निर्णय किया है। इन छात्रों के लिए बैठने की भी अलग से व्यवस्था की जाएगी। जबकि छात्र माध्यमिक शिक्षा मंडल के तर्ज पर राइटर उपलब्ध कराने अथवा राइटर को प्रतिदिन के हिसाब से 150 रुपए देने की मांग कर रहे थे। प्रदान किए जाते हैं।

तीन हजार नि:शक्त छात्र

जानकारों के अनुसार जिले में नि:शक्त छात्रों की संख्या तीन हजार से अधिक है। विभाग ने सपष्ट किया है कि राइटर छात्र से अधिक पढ़ा होने की स्थिति में संबंधित छात्र को परीक्षा से वंचित कर दिया जाएगा। दिव्यांग राजाराम पटेल, सुरेंद्र कुमार कहते हैं कि किसी भी परीक्षा में राइटर आसानी से नहीं मिलते हैं। जो मिलते भी हैं तो काफी पैसा मांगते हैं।

ऐसे छात्रों के लिए राशि का प्रावधान उच्च स्तर पर होना है। हम अपने स्तर पर यह प्रयास जरूर करेंगे कि यदि परीक्षा के दोरान कोई नि:शक्त छात्र राइटर की मांग करेगा तो उसे उपलब्ध कराया जाए।

योगेश शर्मा, जिला परियोजना समन्वयक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *