​​​​​​​ग्वालियर गैंगरेप में एक आरोपी और मददगार अरेस्ट:बेशर्म बोला- सोच लिया था कि ऐसा कुछ करेंगे; लड़की से मां-पिता के सामने किया था रेप

ग्वालियर पुलिस ने भंवपुरा गैंगरेप केस में एक आरोपी और मददगार को गिरफ्तार कर लिया है। गैंगरेप के दो आरोपी फरार हैं। तीन आरोपियों ने दंपती पर कट्‌टा तानकर उनकी 15 साल की बेटी से उनके सामने रेप किया था। गांव के ही चौथे आरोपी ने उनकी मदद की थी।

बेशर्म आरोपी ने पुलिस के सामने कहा, ‘नशा करने के बाद हम सोचकर आए थे कि आज कुछ ऐसा करेंगे।’ गांव का जो मददगार पकड़ा गया है, उसका कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं मिला है। पुलिस पकड़े गए आरोपियों का रिकॉर्ड खंगाल रही है।

उधर, रेप विक्टिम इतनी दहशत में है कि वह आरोपियों के मुंह तक नहीं देखना चाहती। प्रभारी एसपी ग्वालियर ऋषिकेश मीणा का कहना है कि घटना बेहद गंभीर थी और आरोपी अज्ञात होने पर पुलिस के लिए भी चुनौती थी।

रेप विक्टिम के गांव के युवक के घर ठहरे थे तीनों आरोपी
ग्वालियर के प्रभारी एसपी ऋषिकेश मीणा ने बताया कि भंवपुरा थाने की पुलिस, क्राइम ब्रांच और आसपास के थानों की टीम आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए बनाई गई थी। जांच में पता चला कि रेप पीड़ित के गांव में ही रहने वाले बंटी के घर पड़ोसी गांव के आकाश, संजीव और एक अन्य मुरैना निवासी आया था।

पुलिस ने सबसे पहले बंटी को उठाया। सख्ती करने पर वह टूट गया। उसने बताया कि घटना वाले दिन वह दूर खड़ा होकर सबकुछ देख रहा था। पुलिस ने संजीव को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन आकाश और मुरैना निवासी युवक पहले ही भाग चुके थे। पुलिस की एक टीम ने मुरैना में भी इनके रिश्तेदारों के घर दबिश दी। पता चला कि यहां से वे निकल गए हैं।

एक युवती से की थी रेप की कोशिश
पुलिस जब आरोपी को पकड़कर शिनाख्त के लिए पीड़िता के घर लेकर पहुंची तो उसने आरोपी को नहीं पहचाना। वह घबराई हुई थी। पुलिस को पता लगा कि पास ही रहने वाली एक युवती से भी रेप की कोशिश हुई थी। पुलिस उसके पास आरोपी को लेकर पहुंची तो उसने पहचान लिया।

पुलिस का कहना है कि आरोपियों को कोर्ट में जांच में कमी का फायदा न मिले और इस गंभीर अपराध के लिए कड़ी सजा मिले, इसके लिए घटनास्थल सहित आरोपियों का मेडिकल कराकर ज्यादा से ज्यादा सबूत जुटा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *