अफगानिस्तान में श्रीदेवी के लिए रोकी जाती थी बमबारी-मिसाइलें:मौत के बाद मुंह में डाला गया सोने का टुकड़ा, पति के सरप्राइज के बाद बाथटब में बेसुध मिलीं

हिंदी सिनेमा की पहली फीमेल सुपरस्टार श्रीदेवी को गुजरे आज 6 साल बीत चुके हैं। बड़ी-बड़ी आंखें, खूबसूरत चेहरा और आवाज में खनक रखने वालीं श्रीदेवी ने अपने अभिनय से मेल डॉमिनेटेड इंडस्ट्री की काया पलट दी। महज 4 साल की उम्र में एक्टिंग से जुड़ीं श्रीदेवी ने अपनी जिंदगी के 50 साल सिनेमा को दिए और पद्मश्री, नेशनल अवॉर्ड, फिल्मफेयर, लाइफटाइम अचीवमेंट समेत कई सम्मान अपने नाम कर लिए।

24 फरवरी 2018 को जब दुबई से अचानक खबर आई कि श्रीदेवी नहीं रहीं, तो कोई यकीन ही नहीं कर सका। वो भतीजे की शादी के लिए दुबई पहुंची थीं। अगले दिन उनके पति बोनी कपूर भारत लौट आए थे, लेकिन श्रीदेवी वहीं रुकी थीं। इसी बीच बोनी अचानक उन्हें सरप्राइज देने पहुंच गए। वो बहुत खुश थीं।

दोनों एक रोमांटिक डेट पर जाने वाले थे, जिसके लिए श्रीदेवी तैयार होने के लिए बाथरूम गई थीं, लेकिन वहां से लौटी ही नहीं। जब 10 मिनट बाद भी वो बाथरूम से नहीं निकलीं तो बोनी उन्हें देखने गए। दरवाजा अंदर से बंद था और कोई जवाब नहीं मिल रहा था। जब दरवाजा तोड़ा गया तो श्रीदेवी बाथटब में बेसुध पड़ी थीं। पानी में डूबी हुई श्रीदेवी की सांसें थम चुकी थीं। पुलिस पहुंची, एंबुलेंस पहुंची और मीडिया।

रात के करीब 1-2 बजे थे, जब मीडिया में खबर आई कि श्रीदेवी अब नहीं रहीं। उनके देवर संजय कपूर ने मीडिया चैनल्स से उनकी मौत कन्फर्म करते हुए मौत का कारण कार्डियक अरेस्ट बताया था। हालांकि, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में जो सामने आया वो सबके लिए चौंका देने वाला था।

फिल्मी दुनिया की ‘चांदनी’ और हवा हवाई का एक ‘लम्हे’ में गुजर जाना लाखों चाहने वालों के लिए ‘सदमा’ था। यही वजह थी कि जब सफेद फूलों से ढंककर श्रीदेवी की अंतिम यात्रा निकाली गई तो पूरा शहर उनके साथ-साथ चल रहा था और ये बन गया भारत का चौथा सबसे बड़ा अंतिम संस्कार।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *