सौतेली बेटी का गला काटकर हत्या की कोशिश का मामला:मां के दबाव में मासूम ने बदले थे बयान, काउंसिलिंग में खुलासा

भोपाल में 8 साल की जिस मासूम बच्ची का पिता ने गला काटकर झाड़ियों में फेंक दिया था। कोहेफिजा पुलिस ने उसके बयानों को दर्ज कर लिया है। बच्ची लगातार बयान बदल रही थी। उसकी काउंसिलिंग कराई गई। तब बच्ची ने बाल आयोग की टीम के सामने बड़ा खुलासा किया है।

बच्ची ने बताया कि उसकी सौतेली मां उसे बयानों को बदलने के लिए मजबूर कर रही थी। उन्ही के कहने पर उसने पिता के खिलाफ दिए बयानों को बदल दिया। जिसके बाद पुलिस ने अस्पताल में स्थित बच्ची के उस वार्ड के बाहर महिला आरक्षों की ड्यूटी लगा दी है, जहां बच्ची का इलाज किया जा रहा है। अस्पताल से छुट्‌टी के बाद बच्ची की कस्टडी बालिका गृह को सौंपी जाएगी।

बच्ची ने सौतेली मां के साथ रहने से इनकार किया

टीआई ब्रजेंद्र मर्सकोले ने बताया कि आरोपी को शुक्रवार को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया जाएगा। उसने किसी अन्य वारदात का खुलासा नहीं किया है। बच्ची ने सौतेली मां के साथ रहने से इनकार कर दिया है। बाल आयोग की टीम से उसकी काउंस्लिंग कराई गई थी। अस्पताल से छुट्टी के बाद उसे बालिका गृह के हवाले कर दिया जाएगा। ओडिषा में रहने वाले बच्ची के नाना नानी से संपर्क का प्रयास किया जा रहा है। बच्ची की सौतेली मां से भी पूछताछ की गई है। उसकी भूमिका फिलहाल साफ नहीं हो सकी है।

रिकार्ड की जानकारी मांगी

भोपाल पुलिस ने आरोपी तेज सिंह लोधी (24) के रिकार्ड की जानकारी के लिए सागर पुलिस को पत्र लिख दिया है। इसी के साथ पुलिस इस बात की भी जानकारी जुटा रही है कि उसके हांथ किस महिला का नाम लिखा है। उस नाम वाली महिला के संबंध में भी पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है।

ऐसे की वारदत

29 जनवरी को मासूम को पिता तेज सिंह लोधी उसे अपने बड़े पिता के घर जाने के लिए कहकर अपने साथ ले गए। आरोपी ने सैफिया कॉलेज के पास सुनसान इलाके में लड़की का गला काट दिया और उसे झाड़ियों में फेंक दिया।

तत्काल पिता को गिरफ्तार किया गया

आरोपी तेज सिंह लोधी एक टेंट हाउस की दुकान पर काम करता है और शहर के टीला जमालपुरा इलाके में किराए के मकान में रहता है। वह मूलतः सागर का रहने वाला है। नाबालिग लोधी की पहली पत्नी की बेटी है जिसका निधन हो चुका है। लोधी यहां अपनी दूसरी पत्नी के साथ रहते हैं जिनसे उनका एक लड़का है। वह भी अपंग है और आर्थिक हालत खराब होने के कारण वह बच्ची की हत्या करना चाहता था।

ऐसे सुलझा दो साल पुराना हत्याकांड

पुलिस की पूछताछ आरोपी ने पुरानी हत्या की वारदात को अंजाम देना स्वीकार किया था। उसने बताया कि वह पहली पत्नी संगीता उर्फ अनीता उर्फ कन्नू को दो साहल पहले पत्थर से सिर कुलकर मौत के घाट उतार चुका है। यह महिला इसी बच्ची की मां थी जिसकी वह हत्या करना चाहता था। उसका कहना है कि उसे पत्नी के चरित्र पर संदेह था। महिला और उसकी पहचान रांग नंबर से हुई थी। रांग नंबर लगने पर उसने महिला को अपनी बातों के जाल में फांसा।

उससे मिलने अट्‌टा पल्ली जिला समलपुर ओडिषा गया। वहीं उसने महिला से शादी कर ली, उसकी पहले से बच्ची थी। तीन महीने दोनों वहीं रहे, इसके बाद भोपाल आ गए। यहां छोला थाना क्षेत्र में किराए से रहे। हत्या की रात पत्नी को घुमाने के बहाने लेकर आया। यहां उसने पत्नी की सैफिया कॉलेज ग्राउंड में हत्या की। शव को झाड़ियों में फेंककर फरार हो गया। क्योंकि इस हत्याकांड में पुलिस उस तक नहीं पहुंच सकी, लिहाजा उसने बेटी को रास्ते से हटाने का फैसला लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *