अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा पर MP में उत्सव:22 जनवरी को सजेंगे सरकारी दफ्तर, भजन मंडलियों की प्रतियोगिता; अवकाश का प्रस्ताव

अयोध्या में 22 जनवरी को रामलला की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा पर मध्यप्रदेश में भी उत्सव जैसा माहौल रहेगा। भोपाल समेत प्रदेश के सभी सरकारी भवनों पर लाइटिंग की जाएगी। प्रदेश सरकार की ओर से समारोह को लाइव दिखाने के इंतजाम किए जाएंगे।

इसके लिए 22 जनवरी को सरकार अवकाश घोषित करने जा रही है। सभी पंचायतों में भजन मंडलियों के बीच भजनों की प्रतिस्पर्धा कराकर पुरस्कृत किया जाएगा।

मध्यप्रदेश सरकार अगले एक सप्ताह को राममय बनाने की तैयारी में जुटी है। सरकार भी चाहती है कि सभी 23 हजार ग्राम पंचायतों में 22 जनवरी तक श्रीराम कथा सप्ताह मनाया जाए। इस दौरान श्री राम भजन, रामकथा वाचन, रामचरित मानस पाठ, राम रक्षा स्त्रोत समेत भगवान राम की स्तुति वाले अन्य कार्यक्रम किए जाएं। इसके अलावा, आध्यात्मिक और सांस्कृतिक परिचर्चा, नृत्य नाटिका, भजन संध्या, रंगोली के भी कार्यक्रम किए जाएंगे।

26 जनवरी को पुरस्कार और प्रमाण पत्र

पंचायत और ग्रामीण विकास विभाग ने प्रदेश के सभी जिलों के जिला पंचायत सीईओ को इस संबंध में निर्देश दिए हैं। इसमें कहा गया है कि ये सभी कार्यक्रम बाकायदा प्रतियोगिता के तौर पर कराए जाएं, ताकि इसमें पंचायत स्तर पर पहला, दूसरा और तीसरा स्थान पाने वाले भजन मंडलियों और चयनित अन्य कलाकारों को मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव की ओर से प्रमाण पत्र दिया जा सके।

सरकार ने तय किया है कि रामलला की मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा के बाद 26 जनवरी को इन मंडलियों और कलाकारों को जिला स्तर आयोजित कार्यक्रम में पुरस्कार वितरण किया जाएगा। यह पुरस्कार स्थानीय स्तर पर मंत्री, विधायक, जिला पंचायत अध्यक्ष, जनपद पंचायत अध्यक्ष या स्थानीय प्रतिष्ठित नागरिकों, धर्मगुरुओं, साधु-संतों के माध्यम से दिया जाएगा।

22 से 26 जनवरी तक वल्लभ भवन समेत प्रदेश के सभी सरकारी भवनों पर लाइटिंग की जाएगी।
22 से 26 जनवरी तक वल्लभ भवन समेत प्रदेश के सभी सरकारी भवनों पर लाइटिंग की जाएगी।

रोशन होंगे वल्लभ, सतपुड़ा भवन समेत सरकारी दफ्तर

सरकार ने निर्देश जारी किए हैं कि प्रदेश के सभी शासकीय कार्यालयों में 21 से 26 जनवरी तक रोशनी की जाएगी। अब तक के इतिहास के पहली बार है, जब 15 अगस्त, 26 जनवरी, प्रदेश के स्थापना दिवस 1 नवम्बर के अलावा एक हफ्ते पहले से प्रदेश के सभी सरकारी दफ्तरों पर लाइटिंग की जाएगी।

इसमें राजधानी के वल्लभ भवन, सीएम हाउस, राजभवन, विधानसभा भवन, सतपुड़ा भवन, विन्ध्याचल भवन समेत सभी अन्य राज्य स्तर और जिला व संभाग स्तर के दफ्तर शामिल हैं। इन सभी कार्यालयों में जगमग रोशनी 22 जनवरी को होने वाली भगवान रामलला की मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा के एक दिन पहले 21 जनवरी से की जाएगी। यह रोशनी 26 जनवरी तक रहेगी। शहरों में स्कूल, कालेज भवनों में भी जगमग रोशनी करने के लिए कहा गया है।

अप्रूवल मिलते ही जारी होंगे छुट्टी के आदेश

प्रदेश सरकार ने 22 जनवरी को सभी सरकारी दफ्तरों में छुट्टी का फैसला किया है। इसमें स्कूल, कॉलेज और अन्य शासकीय उपक्रमों में अवकाश घोषित रहेगा। इसके लिए जीएडी ने सरकार के निर्देश के बाद फाइल मुख्य सचिव वीरा राणा को अप्रूवल के लिए भेजी है। उनकी सहमति मिलते ही आदेश जारी हो जाएंगे।

22 जनवरी को छुट्टी घोषित होने के बाद 20 से 22 जनवरी तक लगातार तीन दिन का शासकीय अवकाश हो जाएगा। 20 जनवरी को शनिवार है, जबकि 21 जनवरी रविवार शासकीय अवकाश का घोषित दिन है।

22 जनवरी तक ये कार्यक्रम भी चलेंगे

  • 16 से 21 जनवरी तक मंदिरों, सार्वजनिक स्थलों पर विशेष सफाई अभियान चलेंगे।
  • संस्कृति विभाग द्वारा श्रीरामचरित लीला समारोह 11 से 21 जनवरी, 2024 तक रतलाम, मंदसौर, उज्जैन, इंदौर, खंडवा, आगर-मालवा, देवास, सीहोर, छिंदवाड़ा, जबलपुर, अनूपपुर, टीकमगढ़, छतरपुर, पन्ना, सतना, ग्वालियर, दतिया, निवाड़ी, रीवा व दमोह में आयोजित किए जाएंगे।
  • अलग-अलग जगह जन-अभियान परिषद के सहयोग से 11 से 22 जनवरी तक प्रभात-फेरी व कलश-यात्रा, 22 जनवरी को मंदिरों, पवित्र नदियों, जलाशयों में दीपदान एवं प्रकाश व्यवस्था की जाएगी।
  • 11 से 22 जनवरी के बीच प्रदेश के 28 पवित्र स्थलों पर श्रीरामचरित लीला समारोह के साथ चित्रकूट व ओरछा में विशिष्ट गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *