दिल्ली क्राइम ब्रांच ने मंत्री आतिशी को नोटिस दिया:विधायकों की खरीद-फरोख्त मामले में 5 दिन में जवाब देना होगा; केजरीवाल को कल नोटिस दिया था

विधायकों की खरीद-फरोख्त मामले में दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को नोटिस देने के एक दिन बाद रविवार को मंत्री आतिशी को नोटिस दिया। उन्हें जवाब देने के लिए पांच दिन का समय दिया है। इससे पहले पुलिस की टीम सुबह 10:30 बजे उनके आवास पर पहुंची थी। लेकिन आतिशी सुबह ही राघव चड्ढा के साथ केजरीवाल के घर पहुंच गई थीं।

क्राइम ब्रांच की टीम ने आवास के अंदर और बाहर 2 घंटे से ज्यादा समय तक इंतजार किया। बाद में उनके ऑफिस स्टाफ ने नोटिस रिसीव किया।

दरअसल, अरविंद केजरीवाल और आतिशी ने भाजपा पर आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायकों को 25-25 करोड़ रुपए ऑफर करने के आरोप लगाए थे। आतिशी ने कहा था कि BJP दिल्ली में AAP की सरकार गिराना चाहती है। इस मामले में क्राइम ब्रांच दोनों नेताओं से पूछताछ कर सबूत लेना चाहती है।

3 फरवरी को 5 घंटे इंतजार के बाद केजरीवाल को नोटिस दिया था
क्राइम ब्रांच की टीम 3 फरवरी को करीब 5 घंटे तक सीएम आवास पर केजरीवाल का इंतजार करती रही। इसके बाद नोटिस दिया। केजरीवाल से 3 दिन में जवाब मांगा गया है।

क्राइम ब्रांच की टीम शुक्रवार (2 फरवरी) को भी केजरीवाल और मंत्री आतिशी को नोटिस देने गई थी। हालांकि, दोनों अपने आवास पर नहीं थे, जिसके कारण पुलिस बिना नोटिस दिए लौट गई। दिल्ली पुलिस ने बताया कि किसी ने नोटिस नहीं लिया। हालांकि, CMO ने दावा किया कि दिल्ली पुलिस बिना नोटिस दिए ही चली गई थी।

पिछले हफ्ते AAP नेता आतिशी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि भाजपा ने ऑपरेशन लोटस 2.0 शुरू किया है। इसके तहत वे दिल्ली में AAP की सरकार गिराना चाहती है। आतिशी ने दावा किया कि AAP के पास भाजपा नेता की बातचीत रिकॉर्डिंग है, जिसमें वे कह रहे हैं कि केजरीवाल को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

आतिशी ने कहा था- भाजपा हमारे 21 विधायकों के संपर्क में है। उन्होंने 7 विधायकों को 25-25 करोड़ रुपए ऑफर किए हैं, लेकिन सभी MLA ने इस ऑफर को मानने से इनकार कर दिया है। जहां भी भाजपा लोकतांत्रिक तरीके से सरकार नहीं बना पाती है, वो ऑपरेशन लोटस 2.0 का इस्तेमाल करती है। उन्होंने मध्यप्रदेश, कर्नाटक और अरुणाचल प्रदेश में ऐसे ही सरकारें गिराई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *