Desi Jugad : इस जुगाड़ के सामने बड़े बड़े इंजीनीर हुए नतमस्तक, गांव के लड़के ने बनाया ट्रेक्टर चलाने वाला रिमोट

हमारे देश में जुगाडु लोगों की कमी नहीं है। हर काम को अपने तरीके से आसान बनाने के लिए लोग ऐसे जुगाड़ लगाते हैं, जिनकी आप कल्पना भी नहीं कर सकते। टेक्नोलॉजी कहीं भी पहुंच जाए, लेकिन यह अपने दिमाग के बलबूते ऐसे देसी जुगाड़ करते हैं कि लोग उनके फैन हो जाते हैं। जुगाड़ से कुछ भी संभव है। अब इन्हीं चीजों को देखिए। ये देसी जुगाड़ से तैयार की गईं अजब चीजें हैं। कहते हैं कि आवश्यकता आविष्कार की जननी है। जब कोई परेशानी सामने आती है या कुछ अलग हटकर करने का इरादा होता है, तो जुगाड़ साइंस बड़े काम आती है। हम आपको ऐसी हीं कुछ जुगाड़ से निर्मित चीजों या उपकरण से अवगत करा रहे हैं, जो सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय रही हैं। इनसे आप भी बहुत कुछ सीख सकते हैं। और भी इसके आलावा ऐसे जुगाड़ों की हमें जरुरत पड़ती है हमारे कामो को आसान बनाने के लिए जो.

योगेश ने बनाया देसी जुगाड

Untitled design 15

आइए पहले जानते हैं राजस्थान के बारां जिले के बमोरी कलां गांव के रहने वाले 20 वर्षीय योगेश नागर के के बारे में योगेश ने ऐसा कारनामा कर दिखाया है जिससे सभी लोग हैरान है रिमोट से चलने वाले ट्रेक्टर की टेक्नोलॉजी हमारे देश में लॉन्च भी नहीं हुई है योगेश ने रिमोर्ट से ट्रैक्टर चलाकर सबको चकित कर दिया था। यह मामला कुछ समय पहले मीडिया की सुर्खियों में आया था। इस जुगाड़ के आगे बड़े बड़े मकैनिकल इंजीनीर नतमस्तक हो गए जो बड़े बड़े इंजीनीर नहीं कर पाए वह योगेश ने कर दिखाया।

देसी जुगाड़ बनाने में लागत

योगेश किसान परिवार से ताल्लुक रखते हैं। उनके पिता बीमार रहते थे। लिहाजा योगेश को बीएससी की पढ़ाई पूरी करके अपने गांव लौट आना पड़ा। यहां उन्होंने पिता के साथ खेतीबाड़ी में हाथ बंटाना शुरू किया। इसी बीच खाली बैठे उन्हें आइडिया आया और ऐसा रिमोट बना दिया, जो ट्रैक्टर को चलाता हैयोगेश ने सिर्फ 2000 रुपए खर्च करके यह रिमोट बनाया। इसके जरिये ट्रैक्टर को आगे-पीछे ले जाया जा सकता है। उनका यह आइडिया खेतों में ट्रैक्टर से काम करने में सफल रहा। क्योंकि खेतों में दूसरा कोई नहीं होता, इसलिए एक्सीडेंट का खतरा भी नहीं रहता। हालांकि इसे रिमोट अपडेट करने में करीब 50000 रुपए खर्च हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *