पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह कोर्ट में हाजिर हुए: आरएसएस को पाकिस्तान का जासूस कहा था

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह सोमवार को ग्वालियर के सेशन कोर्ट स्थित MP MLA कोर्ट में हाजिर हुए हैं। वह भाजपा और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ को पाकिस्तान का जासूस कहने के बयान पर मानहानि के मामले में कोर्ट हाजिर हुए थे। सोमवार को कोर्ट में उनको बयान देना था।

दिग्विजय सिंह ने साफ शब्दों में कहा कि मेरे बयान को टेंपर कर गलत तरीके से पेश किया गया है। BJP की आदत है मुझे झूठा फंसाने की। अनेक जगह पर मेरे खिलाफ झूठे प्रकरण बना रहे हैं, लेकिन आज तक किसी मानहानि के मामले में मुझे सजा नहीं मिली है ना ही मुझे दोषी पाया गया है।

कोर्ट में अंदर जाते हुए दिग्विजय सिंह
कोर्ट में अंदर जाते हुए दिग्विजय सिंह

सोमवार सुबह प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ग्वालियर के सेशन कोर्ट पहुंचे थे। यहां एमपी एमएलए कोर्ट में उनके खिलाफ चल रहे मानहानि के केस में सोमवार को मुलजिम बयान होने थे। दिग्विजय सिंह को बयान दर्ज कराने थे। पिछली सुनवाई पर पूर्व सीएम ने व्यस्तता का बहाना बना दिया था। इस बार उन्हें अनिवार्य रूप से हाजिर होने की बात कोर्ट ने कही थी। इसलिए दिग्विजय सिंह एमपी एमएलए कोर्ट में पहुंचे और बयान दर्ज कराए हैं।
RSS पंजीकृत संस्था नहीं उसकी कैसी मानहानि
पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने कहा है कि आरएसएस (राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ) पंजीकृत संस्था नहीं है उसकी सदस्यता नहीं होती तो मानहानि कैसे हो गई और किसकी हो गई। भाजपा के शासन में ही मध्य प्रदेश पुलिस का एंटी टेरेरिस्ट स्क्वॉड ने भारतीय जनता पार्टी की आईटी सेल के अध्यक्ष ध्रुव सक्सेना, सतना के बजरंग दल के अध्यक्ष बलराम सिंह और ग्वालियर के दो लोग सहित करीब 14 से 15 लोग ISI के लिए जासूसी करते हुए पकड़े थे, तो मैंने क्या गलत कहा। मैंने पूरी BJP को यह नहीं कहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *