Gwalior Crime News: क्रेडिट कार्ड ब्लाक करने का झांसा देकर 4.19 लाख रुपये ठगे

Gwalior Crime News: ग्वालियर (नप्र)। बैंक कर्मी बनकर एक ठग ने कंपनी के मैनेजर को फोन किया। क्रेडिट कार्ड ब्लाक करवाने का झांसा देकर 4.19 लाख रु. ठग लिए। इस मामले में क्राइम ब्रांच में एफआइआर दर्ज की। जिस नंबर से फोन आया है, उसके जरिये पुलिस ठगों तक पहुंचने की कोशिश कर रही है। अभी कोई सुराग नहीं लगा है।

गोला का मंदिर स्थित सागर पैराडाइज निवासी पंकज पुत्र रतनचंद्र जैन नोएडा की एक कंपनी में मैनेजर हैं। वह अभी ग्वालियर में कंपनी का काम देखते हैं। एक अनजान नंबर से आए काल में बैंक कर्मचारी बनकर ठग ने पंकज से कहा- उसने क्रेडिट कार्ड उपयोग नहीं किया, इसलिए पेनाल्टी लगाई गई है। 4500 रु. की पेनाल्टी लगाने की बात कही। फिर मैसेंजर पर एक फाइल भेजी, इसके साथ लिंक भेजी। लिंक पर क्लिक किया तो एक पेज खुला। उस पर उसने पूरी जानकारी भर दी। इसके बाद उसे सबमिट कर दिया। उनके खाते से 4.19 लाख रु. निकल गए। जब बैंक पहुंचे तब रु. निकलने का पता लगा। तब उन्होंने क्राइम ब्रांच में शिकायत की।

पेंसिल के पैकेट पैक कर हर महीने 30 हजार कमाने का झांसा देकर ठगी

गुढ़ा-गुड़ी का नाका निवासी संतोष पुत्र चुन्नीलाल को नौकरी की जरूरत थी। अनजान नंबर से काल कर ठग ने हिंदुस्तान पेंसिल कंपनी का अधिकारी बनकर पेंसिल के पैकेट पैक करने का काम दिलाने, जिसमें उसे हर महीने 30 हजार रु. की कमाई होगी, का झांसा दिया। उससे 13 हजार रु. जमा कराए। फिर उसका नंबर ब्लाक कर दिया, तो उसने क्राइम ब्रांच में शिकायत की।

बैंक में सुबह पांच बजे अलार्म बजने से पुलिस हुई चक्करघिन्नी

सेंट्रल बैंक आफ इंडिया की उटीला स्थित ब्रांच में शुक्रवार सुबह पांच बजे अचानक अलार्म बज उठा। अलार्म बजने पर पुलिस को सूचना मिली बदमाश बैंक के अंदर घुस गए हैं। पुलिस फोर्स जब पहुंची और बैंक के अंदर गए तो यहां शार्ट सर्किट से तार जल गया था। आशंका है- तार चूहे ने काट दिया होगा, इसके बाद यह जल गया। एसडीओपी संतोष पटेल ने बताया कि अलार्म बजने पर दो थानों का फोर्स पहुंच गया था। अलार्म चेस्ट के पास लगा होता है, इसलिए दो थानों का फोर्स कंट्रोल रूम से भेजा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *