अवैध रेत खनन पर हाईकोर्ट सख्त:पूछा-अवैध रेत खनन पर क्या कदम उठा रही है सरकार

बीते 5 मई को शहडोल में रेत खनन के दौरान सहायक उप निरीक्षक महेंद्र बागरी की मौत के बाद हाईकोर्ट सख्त हो गया है। प्रदेश में लगातार हो रहे रेत खनन को लेकर हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से पूछा है कि इस पर अंकुश लगाने के लिए क्या कदम उठाए जा रहे है। इस पर शासकीय वकील ने हाईकोर्ट को जवाब देते हुए कहा है कि शहडोल कलेक्टर व एसपी से रिपोर्ट मांगी गई है। कोर्ट ने ब्यौहारी में अवैध रेत खनन करने वाले माफिया द्वारा एएसआई व पटवारी की हत्या के बाद कार्रवाई के संबंध में जवाब तलब किया है।

हाईकोर्ट जस्टिस डीके पालीवाल की कोर्ट ने दो आरोपी अनुज कौल और शुभम विश्वकर्मा की जमानत अर्जी पर सुनवाई के दौरान उक्त निर्देश दिए। मामले की सुनवाई अब दो सप्ताह के दौरान ब्यौहारी के एसडीओपी रवि प्रकाश कोल तत्कालीन थाना प्रभारी राज कुमार मिश्रा उपस्थित रहे। शासन की और से शासकीय अधिवक्ता प्रदीप गुप्ता ने बताया कि शहडोल पुलिस-प्रशासन जांच कर रहा है, जल्द ही शासन के समक्ष रिपोर्ट प्रस्तुत की जा रही है।

गौरतलब है कि कुछ माह पहले शहडोल में ही पटवारी प्रसन्न सिंह की भी रेत माफिया ने ट्रैक्टर से कुचलकर हत्या की थी। मामले में आरोपियों ने निचली अदालत में जमानत याचिका दायर की थी, जिसे कि निरस्त कर दिया गया। इसके बाद आरोपियों ने हाईकोर्ट में जमानत के लिए आवेदन लगाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *