इंदौर की युवती को पति ने लंदन में किया प्रताड़ित:वापस इंडिया भेजा; शादी के 5वें दिन हुआ विवाद, हैसियत के हिसाब से मांगा दहेज

इंदौर की एक विवाहिता ने लंदन में रहने वाले पति के खिलाफ दहेज मांगने और प्रताड़ित कर इंडिया भेजने के मामले में केस दर्ज कराया है। पीड़िता के मुताबिक शादी के 5 दिन बाद सभी ने कम दहेज को लेकर प्रताड़ित करना शुरू कर दिया था।

द्वारकापुरी पुलिस के पास गुमाश्ता नगर में रहने वाली 29 साल की महिला पहुंची। शिकायत पर पति सौरभ, सास शकुंतला, जेठ कौस्तुभ और जेठानी संचयिका के खिलाफ 30 लाख रुपए दहेज को लेकर प्रताड़ित करने के मामले में केस दर्ज किया गया।

अब वह जान लीजिए जो पीड़िता ने अपनी शिकायत में पुलिस को बताया है…।

पीड़िता ने पुलिस को अपनी शिकायत में बताया कि वह मैनेजमेंट से पीचएडी कर रही है। उसकी शादी दिसंबर 2022 में सामाजिक रीति रिवाज से हुई। शादी के 5 दिन बाद ही घर में विवाद हुआ। काम में कमी निकालते हुए सास और अन्य लोगों ने दहेज कम लाने को लेकर प्रताड़ित किया। पति ने छोटी-छोटी बात पर झगड़ा कर मारपीट शुरू कर दी।

सास शकुंतला और जेठ-जेठानी ने कहा कि दहेज के 30 लाख रुपए की व्यवस्था करे। इस बात को लेकर कई बार विवाद भी हुए। जिसमें उसे ताने मारे गए। पीड़िता के मुताबिक पति सौरभ और जेठ कौस्तुभ साफ्टवेयर इंजीनियर हैं, जो लंदन में जॉब करते हैं। उन्हें हैसियत के हिसाब से दहेज चाहिए था। सभी 3 फैशन वूल, अर्ली रेडिंग, लंदन में रहते हैं।

शादी के दो माह बाद फरवरी 2023 में सास और पति मुझे भी लंदन लेकर गए। यहां भी ले जाकर मुझसे दहेज और छोटी-मोटी बातों के लिए प्रताड़ित किया। करीब चार माह तक यहां मुझे साथ रखा। लंदन में रहने वाले मेरे बुआ और फूफा जी को बुलाकर मुझे इंडिया भेजा दिया। इसके बाद जून 2023 से मैं अपने मायके में ही रह रही हूं।

इंडिया पहुंचने के बाद इंदौर स्थित घर पहुंची तो पिता ने सौरभ को कॉल किया। लेकिन उसने बात नहीं की। इसके बाद जानकारी लगी कि जुलाई 2023 में पति और अन्य लोग काम के सिलसिले में इंदौर आ गए हैं। इसके बाद पिता, चाची, दादी सहित अन्य लोग सास शकुंतला, जेठ कौस्तुभ और जेठानी संचयिका से बात करने गए, तो उन्होंने काफी अपमान किया। दुर्व्यवहार कर परिवार के लोगों को घर से भगा दिया।

पैसे देने के बाद साथ में रखने की बात आई सामने

उन्होंने कई तरह के आरोप लगाते हुए 30 लाख देने के बाद ही साथ रखने की बात की। पीड़िता ने बताया कि वह अपना दांपत्य जीवन बचाना चाहती थी। इसलिए पहले पुलिस में शिकायत नहीं करते हुए ससुराल के लोगो को समझाने का प्रयास किया। मानसिक रूप से प्रताड़ित होने के बाद केस दर्ज कराया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *