शिवराज के खिलाफ बुधनी से लडऩा चाहता हूं चुनाव:-दीपक जोशी

भोपाल । भाजपा छोड़ कांग्रेस में आए प्रदेश के कदवर नेता पूर्व मंत्री दीपक जोशी ने शिवराज सरकार पर गंभीर आरोप जड़ते हुए कहा है कि चाल-चरित्र और चेहरे की दुहाई देने वाली कैडरबेस पार्टी भाजपा अब अपनी राह से भटक चुकी है। भाजपा शासन में ऊपर से नीचे तक सर्वत्र माफियाराज चल रहा है। उन्होंने कहा कि वह सीएम शिवराज के खिलाफ बुधनी से विधानसभा चुनाव लडऩा चाहते हैं। यदि पार्टी मौका दे तो वे बुधनी सें शिवराज से मुकाबला करने को तैयार हैं। पूर्व मंत्री एवं कद्दावर नेता दीपक जोशी ने इटारसी पहुंचे एक कार्यक्रम में भाजपा को जमकर कोसा और कहा कि भाजपा भ्रष्टों और अपराधियों की पार्टी बनकर रह गई है। उन्होंने कहा कि भाजपा में अब नीतियों-सिद्धांतों पर चलने वाले कार्यकर्ता की पूछ-परख नहीं हैं। भाजपा में कार्यकर्ता के नाम पर वह लोग रह गए हैं जो सत्ता का दोहन कर अपने परिवार और स्वयं को मजबूत बनाना चाहते हैं। पूर्व मंत्री दीपक जोशी ने कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार पर सवाल उठाते हुए कहा कि यह सिर्फ सौदेबाजी और वोटबैंक की राजनीति है। कोई बताए कि विधानसभा चुनाव के डेढ महीने महीने पहले मंत्रिमंडल विस्तार का क्या औचित्य है? कोई मंत्री कैसे अपने विभाग का संपादन करेगा। जनता के हित में क्या फैसला लेगा। जब तक वह विभाग के कामकाज को जानने-समझेगा तब तक तो चुनाव की तारीख आ जाएगी। दीपक जोशी का राजनीतिक सफरनामा भाजपाई राजनीति के संत एवं पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी के सुपुत्र दीपक जोशी छात्र जीवन से राजनीति में हैं। तीन बार विधायक रह चुके हैं। पहली बार 2003 में विधायक चुने गए थे। दीपक 2003 में बागली और 2008 में हाटपिपलिया से विधायक बने। इसके बाद उन्होंने 2013 में विधानसभा का चुनाव जीता। शिवराज सरकार में दो बार मंत्री रहे। हालांकि 2018 में वह कांग्रेस के उम्मीदवार मनोज चौधरी से चुनाव हार गए। इसके बाद मई 2023 में भाजपा छोडक़र कांग्रेस में शामिल हो गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *