स्वच्छ वायु सर्वेक्षण में भी इंदौर नंबर 1:देश में सबसे साफ हवा इंदौर की; 200 में से 187 अंक हासिल किए

इंदौर ने स्वच्छता में एक और उपल​ब्धि हासिल कर ली है। शहर की हवा भी अब देश में सबसे साफ है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने स्वच्छ वायु सर्वेक्षण 2023 में हमें पहले स्थान पर रखा है। 10 लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में इंदौर ने 200 में से 187 अंक हासिल किए हैं।

आगरा दूसरा, ठाणे तीसरे, श्रीनगर चौथे और भोपाल (181) 5वें स्थान पर रहा। शहर का एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) 4-5 महीनों से 70 से 90 के बीच रहा है। पीएम 10 जुलाई में 60.70 माइक्रोग्राम था।

प्रमुख सचिव पर्यावरण गुलशन बामरा ने बताया, 3 लाख से 10 लाख आबादी वाले शहरों की श्रेणी में प्रदेश के सागर को 188.02 अंकों के साथ देश में 10वां स्थान मिला है। तीन लाख से कम आबादी वाले शहरों में देवास ने 180 अंकों के साथ छठा स्थान प्राप्त किया है। वहीं, जबलपुर (172) 13वें और ग्वालियर (114) ने 41वां स्थान हासिल किया।

यह किया : ग्रीन कवर बढ़ाए, सोलर एनर्जी से बदली फिजा

  • 200 में से 187 अंक लाकर हमने मारी बाजी
  • आगरा दूसरे और ठाणे तीसरे स्थान पर रहा
  • भोपाल 5वे, जबलपुर 13वें और ग्वालियर 41वें नंबर पर
  • छोटे शहरों में देवास छठे नंबर पर

नगर निगम के अधीक्षण यंत्री महेश शर्मा ने बताया कि हमने ग्रीन कवरेज पर ध्यान दिया और अहिल्यावन बनाए। सड़कों से धूल हटाना, सोलर एनर्जी का उपयोग बढ़ा, नेट मीटरिंग के आंकड़े, 24 घंटे विद्युत सप्लाई, सीएंडडी वेस्ट का मैनेजमेंट, ई-चार्जिंग स्टेशन, फुटपाथ ठीक रहने पर लगातार काम किया। सांसद शंकर लालवानी ने कहा कि इंदौरवासियों के प्रयासों से ही शहर का एक्यूआई 100 से कम बना हुआ है। क्लीन एयर कैटलिस्ट के कम्युनिकेशन कंसल्टेंट सुधीर गोरे ने बताया कि इंदौर के अलावा जकार्ता और नैरोबी में 2020 में क्लीन एयर प्रोग्राम चलाया जा रहा है।

इंदौर के लिए यह बड़ी उपलब्धि है और अब इसे बनाए रखना हमारी जिम्मेदारी भी है। चौराहों पर रेड लाइट होने पर गाड़ी का इंजन बंद रखना, निर्माण स्थलों पर ग्रीन नेट लगाना आदि काम लगातार करने होंगे।

– हर्षिका सिंह, निगमायुक्त

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *