जबलपुर कलेक्टर की दो टूक: पुस्तक मेले पर बुक नहीं मिली तो स्कूलों को बदलनी होगी पुस्तक

JABALPUR NEWS:  जबलपुर। जबलपुर कलेक्टर दीपक कुमार सक्सेना  (Collector Deepak Kumar Saxena) पूरी तरह से निजी स्कूलों की लूट खसूट पर प्रतिबंध  (restrictions ) लगाने का मन बना चुके हैं। पिछले दो दिन से गोलबाजार शहीद स्मारक में पुस्तक मेले का आयोजन हो रहा है। मेले में पुस्तक खरीदने के लिए बड़ी संख्या में अभिभावक पहंुच रहे हैं। लेकिन देखने में आ रहा है कि महंगी और जरूरी पुस्तकें अभिभावकों को मेले में नहीं मिल रही है इसी को देखते हुए कलेक्टर ने तय किया है कि जो पुस्तक मेले में नहीं मिलेगी उस पुस्तक को स्कूल प्रबंधनों को बदलना होगा। ऐसा नहीं करने पर स्कूलों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश जारी किए जाएंगे।

 

ALL SO REED- JABALPUR NEWS: ब्रिटिश स्कूल के संचालक के आगे घुटना टेक हुई पुलिसः छात्र नेता के खिलाफ ऐसी कार्रवाई जैसे आतंकवादी हो

जो नहीं मिलेगी, वो नहीं चलेगी” थीम पर होगी कार्रवाई
कलेक्टर दीपक कुमार सक्सेना ने कहा कि पुस्तक मेले में अभिभावक गण द्वारा यह शिकायत की जा रही है कि स्कूल प्रबंधन द्वारा अनुशंसित कुछ किताबें मेले में नहीं मिल पा रही हैं और कतिपय विक्रेता बता रहे हैं कि उक्त किताबें मेला समाप्ति के उपरांत बुक स्टोर पर उपलब्ध हो सकेंगी मेले में अनुपलब्ध किताबों के संबंध में मोनोपाली प्रथम दृष्ट्या सिद्ध हैै। अतएव मध्यप्रदेश निजी विद्यालय (फीस और संबंधित विषयों का विनियमन) अधिनियम 2017 के तहत कलेक्टर की अध्यक्षता में गठित सक्षम जिला समिति द्वारा उक्त किताब को पाठ्यक्रम से हटाकर उसके स्थान पर सर्वसुलभ किताब को पाठ्यक्रम में शामिल करने का निर्णय लिया गया है। . स्कूल प्रबंधन 24 घंटो के भीतर रिप्लेसमेंट के संबंध में जिला शिक्षा अधिकारी को सूचित करेगा. आदेश की अवहेलना करने पर स्कूल प्रबंधन के विरूद्ध विधि अनुसार कारवाई की जायेगी।

ALL SO REED- Bajaj मोटर्स के पेट पर लात रखने Honda ने खेला दाव लांच की अपनी स्पोर्टी लुक Hornet 2.0, अमेजिंग फीचर्स के साथ मिल रहा मजबूत इंजन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *