बारिश के बीच तिरपाल लगाकर अंतिम संस्कार:जबलपुर में कीचड़ से सने रास्ते से निकाली शव यात्रा; परेशान होते रहे परिजन

जबलपुर में बारिश के बीच तिरपाल लगाकर बुजुर्ग के शव का अंतिम संस्कार किया गया। यहां सिहोरा के श्मशानघाट में शेड नहीं है। यही नही, कीचड़ से सनी सड़कों से होकर शव को ले जाया गया। सिहोरा नगरपालिका के दो वार्डों के लिए श्मशानघाट तो बनवाया गया, लेकिन यहां कोई सुविधा नहीं है।

सिहोरा के वार्ड नंबर 9 पहरेवा के रहने वाले बुजुर्ग पिक्कू लाल गोटिया (70) का निधन हो गया। परिजनों समेत रिश्तेदारों के आने के बाद बुजुर्ग की अंतिम यात्रा निकली। शव को अंतिम संस्कार के लिए शमशान घाट ले जाया गया। बरसते पानी में कीचड़ भरे रास्ते से जैसे- तैसे अंतिम यात्रा शमशान घाट तक पहुंच गई। वहां ना शेड था और ना ही व्यवस्था। ऐसे में परिजनों ने प्लास्टिक की पॉलिथीन लगाकर बरसते पानी में बुजर्ग का अंतिम संस्कार किया।

इसका वीडियो अब सोशल मीडिया पर सामने आया है। वीडियो विकास के तमाम दावों की पोल भी खोल रहा है। इसी सिहोरा नगरपालिका को जिला बनाने की कई साल से मांग भी उठ रही है।

अंतिम संस्कार में शामिल एक व्यक्ति ने यह वीडियो बनाया। बताया जा रहा है कि शमशानघाट पर तीन शेड बनने का ठेका भी हुआ है, पर ठेकेदार ने बनाया नहीं। इस कारण बारिश के मौसम में अंतिम संस्कार के लिए लोगों को परेशान होना पड़ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *