पत्‍नी व मासूम बेटे को जलाकर मारने पर उम्रकैद

जबलपुर। जिला सत्र न्यायाधीश आलोक अवस्थी की अदालत ने पत्नी व मासूम बेटे को जलाकर मारने के आरोपित जबलपुर निवासी रंजीत गौड़ का दोष सिद्ध पाया। इसी के साथ आजीवन कारावास की सजा सुना दी। कोर्ट ने दोहरे हत्याकांड को बेहद गंभीरता से लेकर फैसला सुनाया। अभियोजन की ओर से लोक अभियोजक अशोक पटेल ने पक्ष रखा।

गुस्से में तेरह माह के बेटे को लेकर मायके जाने के लिए निकली थी

 

अशोक पटेल ने दलील दी कि पनागर थानातंर्गत ग्राम मोहनिया निवासी रंजीत गौड़ ने 18 फरवरी, 2020 को खाना बनाने की बात पर अपनी पत्नी रामरति से झगड़ा किया था। जिसके बाद रंजीत ने रामरति के साथ जमकर मारपीट की। वह गुस्से में अपने तेरह माह के बेटे आरव को लेकर मायके जाने के लिए घर से बाहर निकली थी। उसी समय आरोपित रंजीत उन्हें जबरदस्ती पकड़कर घर के अंदर ले गया।

 

मेडिकल अस्पताल में उपचार दौरान मौत हो गई थी

आरोपित ने मिट्टी का तेल उड़ेलकर पत्नी रामरति व बेटे आरव को आग लगा दी। मां-बेटे दोनों को गंभीरावस्था में उपचार के लिए मेडिकल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जिनकी उपचार दौरान मौत हो गई थी। पुलिस ने मामले में हत्या का प्रकरण दर्ज कर अदालत के समक्ष चालान पेश किया। सुनवाई दौरान पेश किये गये गवाह व साक्ष्यों के मद्देनजर अदालत ने आरोपित रंजीत गौड़ को आजीवन कारावास व जुर्मान से दंडित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *