मध्यप्रदेश मानसून अपडेट : 6 डैम के गेट खुले, बैतूल में ऑटो बहने से 4 लापता; नर्मदापुरम – इंदौर समेत 4 जिलों में कल स्कूल बंद

बंगाल की खाड़ी से उठे मानसूनी सिस्टम की बारिश से मध्यप्रदेश तरबतर हो गया है। शुक्रवार को भी भोपाल, इंदौर समेत 21 से ज्यादा जिलों में तेज बारिश हुई। सबसे ज्यादा नर्मदापुरम जिला भीगा। जिले के पचमढ़ी में 9 घंटे में 5.7 इंच पानी बरसा।

 

भारी बारिश के चलते प्रदेश के 6 डैम के गेट खोलने पड़े हैं। जबलपुर में बरगी और नर्मदापुरम में तवा डैम के 13-13 गेट खोले गए। वैनगंगा नदी उफान पर होने से संजय सरोवर बांध के 5 गेट खोल दिए गए हैं। इनके अलावा सतपुड़ा बांध के 7 गेट 11 फीट के लेवल पर खुले रखे गए हैं। पारसडोह बांध के भी 3 गेट खोले गए हैं। छिंदवाड़ा में माचागोरा डैम के सभी 8 गेट खोले गए हैं।

 

वहीं, छिंदवाड़ा में दो लोग नदी पार करते समय बह गए। इनमें से एक लापता है। उधर, बैतूल में एक ऑटो नदी के तेज बहाव में बह गया। में इसमें सवार 4 लोग लापता बताए जा रहेहैं।

मौसम विभाग के अनुसार, शुक्रवार को नर्मदापुरम शहर में 3.4 इंच बारिश हुई। बैतूल में 3.5 इंच, सिवनी में 2.5 इंच, भोपाल जिले में 1.8 इंच, भोपाल शहर में 1 इंच, नरसिंहपुर में 1.5 इंच, रायसेन – सागर में 1.1 इंच बारिश हुई। इंदौर, रतलाम, मलाजखंड में आधा इंच से ज्यादा पानी गिरा। सीधी, सतना, रीवा, खजुराहो, मंडला, धार, गुना, खंडवा, उज्जैन और दमोह में भी बारिश हुई।

 

नर्मदापुरम में इस सीजन में पहली बार तवा डैम के सभी 13 गेट 20-20 फीट तक खोल दिए गए हैं। इनसे 4,08,265 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। इसके चलते नर्मदा नदी के सेठानी घाट पर तेजी से जलस्तर बढ़ रहा है। निचले क्षेत्रों में पानी भरने की आशंका है। हालात के मद्देनजर शनिवार को स्कूलों की छुट्टी घोषित की गई है।

 

इंदौर में शुक्रवार शाम 4 बजे के बाद सीजन की सबसे तेज बारिश हुई। विजिबिलिटी घटने से गाड़ियों की हैडलाइट्स जलानी पड़ीं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *