विधायक को पालकी में घुमाया, वजह जान हो जाएंगे हैरान

झारखंड के साहिबगंज जिले में सड़क निर्माण का शिलान्यास करने पहुंचे विधायक को ग्रामीणों ने गाजे-बाजे के साथ पालकी में बैठाकर पूरे गांव में घुमाया. फिर ग्रामीणों ने मिलकर विधायक लोबिन हेंब्रम का सम्मान किया. बताया जा रहा है कि आजादी के बाद से ही गांव के लोग बिना सड़क के गुजारा कर रहे थे.

दरअसल, मंगलवार को तालझारी प्रखंड के अंतर्गत प्रधान टोला गांव में बोरियो के विधायक लोबिन हेंब्रम एक सड़क का शिलान्यास करने पहुंचे थे. वहां उन्होंने एक करोड़ 20 लाख रुपये की लागत से बनने वाली मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत पीसीसी सड़क का शिलान्यास कर ग्रामीणों के बरसों पुरानी मांग को पूरा किया. सड़क की लंबाई 1.40 किलोमीटर है.

MLA को संथाली परंपरागत तरीके से पूरा गांव घुमाया

वहीं, प्रधान टोला गांव के दर्जनों आदिवासी ग्रामीणों ने सर्वप्रथम अपने विधायक लोबिन हेंब्रम को आदिवासी रीति रिवाज और पुष्प का माला पहनकर जोरदार तरीके से स्वागत किया. इसके बाद ग्रामीणों ने विधायक को पालकी में बिठाकर संथाली परंपरागत तरीके से पूरा गांव घुमाया. उन्होंने विधायक को आभार जताते हुए कहा कि आज विधायक हम लोग के साथ हैं. उसी तरह ग्रामीण भी विधायक के साथ हमेशा खड़े रहेंगे.

आजादी के बाद गांव में बनी सड़क से लोगों में खुशी.
आजादी के बाद गांव में बनी सड़क से लोगों में खुशी.

सरकार से नाराज चल रहे विधायक.  

जानकारी के मुताबिक, बोरियो विधायक लोबिन हेंब्रम वर्तमान में अपने ही पार्टी झारखंड मुक्ति मोर्चा के हेमंत सोरेन सरकार से नाराज चल रहे हैं. लगातार सरकार के खिलाफ बयान देकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का कई बार आलोचना कर चुके हैं. विधायक के समर्थकों का कहना है कि 2024 का चुनाव वह स्वतंत्र रूप से लड़ सकते हैं. लोबिन हेंब्रम लगातार अपने क्षेत्र के मतदाताओं से मिलकर रणनीति बना रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *