MP NEWS: नगर पालिका का अकाउंटेंट को 20 हजार की रिश्वत लेते लोकायुक्त ने धर दबोचा 

 

मध्य प्रदेश में रिश्वतखोरी थमने का नाम नहीं ले रही है। ऐसा ही एक मामला बैरसिया से सामने आया है। लोकायुक्त ने कार्रवाई करते हुए नगर पालिका के अकाउंटेंट को 20 हजार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ा है। कॉन्ट्रैक्ट का 5 लाख का अटका पेमेंट करने के एवज में अकाउंटेंट 10 फीसदी रिश्वत की मांग कर रहा था। पीड़ित सुनील कुमार ने इसकी शिकायत लोकायुक्त से की थी।

बता दें, 5 अप्रैल 2024 को सुनील ने लोकायुक्त भोपाल से लिखित में शिकायत की थी। जिसमें उसने बताया कि वह एक सरकारी ठेकेदार है। उसे मई 2023 में नगर पालिका बैरसिया ने स्टेडियम कॉम्प्लेक्स में दुकान बनाने के लिए ठेका दिया था। कंस्ट्रक्शन का काम पूरा हो गया था। काम खत्म होने के बाद करीब 5 लाख रुपए मिलना था। इसी पेमेंट का ऑर्डर जारी करने के लिए अकाउंटेंट ने 50000/- रुपए की रिश्वत की मांग की थी।

रिश्वत मांगने की शिकायत मिलने के बाद लोकायुक्त ने सत्यता की जांच की। मामला सही पाए जाने के बाद एसपी लोकायुक्त संगठन भोपाल के मार्गदर्शन में टीम गठित की गई। साथ ही कॉन्ट्रैक्टर को रुपए देकर रिश्वत देने के लिए कहा गया। जब रिश्वत दिया गया इस दौरान डीएसपी अनिल बाजपाई, ट्रेपकर्ता अधिकारी मयूरी गौर, निरीक्षक नीलम पटवा , रामदास कुर्मी राजेंद्र पावन मुकेश परमार हेमेंद्र पाल सादे कपड़ों में आसपास मौजूद रहे।

9 अप्रैल यानी मंगलवार को ठेकेदार सुनील रिश्वत की पहली किस्त लेकर नगर पालिका बैरसिया के आरोपी अकाउंटेंट सचिन कठाने के पास पहुंचा था। जैसे ही सुनील ने रिश्वत की पहली किश्त लेखपाल के हाथ में पकड़ाई पास में मौजूद लोकायुक्त की टीम ने सचिन को रंगे हाथ पकड़ लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *