लाल कृष्ण आडवाणी को भारत रत्न दिए जाने पर दिग्विजय सिंह बोले- ‘…एक और नेता हैं, उन्हें भी सम्मानित करना चाहिए’

भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता लाल कृष्ण आडवाणी (LK Advani) को भारत रत्न (Bharat Ratna) से नवाजा जाएगा. खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने दो दिन पहले सोशल मीडिया एक्स पर उनके साथ तस्वीरें साझा कर यह जानकारी दी थी. इसके बाद से ही विपक्षी दलों ने बीजेपी सरकार पर जोरदार हमला बोलना शुरू कर दिया. इसी कड़ी में मध्य प्रदेश (MP) के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह (Digvijaya Singh) की भी प्रतिक्रिया सामने आई है.

दिग्विजय सिंह ने अपने सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स पर पोस्ट लिखा, ‘पीएम मोदी ने लाल कृष्ण आडवाणी को भारत रत्न देकर नेक काम किया है बधाई. देर से ही सही पर दिया तो, अब एक और हैं जिन्होंने आरएसएस, बीजेपी के लिए और देश के लिए उल्लेखनीय सेवाएं दी हैं. वे हैं, डॉ मुरली मनोहर जोशी. उनको भी भारत सरकार को सम्मानित करना चाहिए.’

 

पीएम मोदी ने किया था एलान
बता दें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालकृष्ण आडवाणी के साथ अपनी तस्वीरों को शेयर करते हुए उन्हें भारत रत्न से सम्मानित करने की जानकारी सोशल मीडिया पर दी थी. प्रधानमंत्री मोदी ने एक्स पर पोस्ट कर कहा था, “मुझे यह बताते हुए बहुत खुशी हो रही है कि लाल कृष्ण आडवाणी जी को भारत रत्न से सम्मानित किया जाएगा. मैंने भी उनसे बात की और इस सम्मान से सम्मानित होने पर उन्हें बधाई दी. हमारे समय के सबसे सम्मानित राजनेताओं में से एक, भारत के विकास में उनका योगदान अविस्मरणीय है. उनका जीवन जमीनी स्तर पर काम करने से शुरू होकर हमारे उपप्रधानमंत्री के रूप में देश की सेवा करने तक का है. उन्होंने हमारे गृह मंत्री और सूचना और प्रसारण मंत्री के रूप में भी अपनी पहचान बनाई. उनके संसदीय हस्तक्षेप हमेशा अनुकरणीय और समृद्ध अंतर्दृष्टि से भरे रहे हैं. ”

प्रधानमंत्री  ने आडवाणी के योगदान का स्मरण करते हुए उन्हें भारत रत्न दिए जाने को अपने लिए बहुत ही भावुक क्षण बताते हुए एक्स पर अपने एक अन्य पोस्ट में कहा था कि “सार्वजनिक जीवन में आडवाणी जी की दशकों लंबी सेवा को पारदर्शिता और अखंडता के प्रति अटूट प्रतिबद्धता द्वारा चिह्नित किया गया है, जिसने राजनीतिक नैतिकता में एक अनुकरणीय मानक स्थापित किया है. उन्होंने राष्ट्रीय एकता और सांस्कृतिक पुनरुत्थान को आगे बढ़ाने की दिशा में अद्वितीय प्रयास किए हैं. उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया जाना मेरे लिए बहुत भावुक क्षण है. मैं इसे हमेशा अपना सौभाग्य मानूंगा कि मुझे उनके साथ बातचीत करने और उनसे सीखने के अनगिनत अवसर मिले.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *