6 साल बाद कमबैक करेंगी प्रीति जिंटा:ज्यादा पैसे कमाने के लिए एक्टिंग छोड़कर IPL से जुड़ी थीं, अब 183 करोड़ की मालकिन

बॉलीवुड अभिनेत्री प्रीति जिंटा 49 साल की हो गई हैं। प्रीति बॉलीवुड की सबसे सफल अभिनेत्रियों में शुमार की जाती हैं। उन्होंने ‘कल हो ना हो’, ‘कभी अलविदा ना कहना’, ‘कोई मिल गया’, ‘सलाम नमस्ते’, ‘वीर जारा’ समेत कई बेहतरीन फिल्मों में काम कर इंडस्ट्री में अपनी जगह बनाई थी। प्रीति अब अमेरिका में सेटल हो चुकी हैं जहां वह पति जीन गुडइनफ और दो बच्चों के साथ रहती हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, प्रीति सनी देओल स्टारर फिल्म ‘लाहौर 1947’ से कमबैक कर सकती हैं। हाल ही में उन्हें इस फिल्म के लुक टेस्ट के लिए मुंबई के एक स्टूडियो में भी देखा गया था। प्रीति आखिरी बार ‘भैयाजी सुपरहिट’ में नजर आई थीं। ये फिल्म 2018 में रिलीज हुई थी।

इसके बाद उन्होंने फिल्मों में काम करना बंद कर दिया, क्योंकि वो क्रिकेट वर्ल्ड से जुड़ चुकी थीं। 2008 में ही वो IPL में पंजाब किंग्स की को-ओनर बन गई थीं। सफल करियर के बावजूद प्रीति ने बॉलीवुड क्यों छोड़ा और क्रिकेट वर्ल्ड से क्यों जुड़ीं।

13 साल की उम्र में पिता को खो चुकी हैं प्रीति

प्रीति का जन्म 31 जनवरी, 1975 को शिमला, हिमाचल प्रदेश में हुआ था। उनके माता-पिता का नाम दुर्गानंद जिंटा और नीलप्रभा है। प्रीति के पापा इंडियन आर्मी में ऑफिसर थे। जब प्रीति 13 साल की थीं तभी उनके पिता की कार एक्सीडेंट में मौत हो गई थी।

इस एक्सीडेंट में उनकी मां को भी गंभीर चोटें आई थीं जिसके कारण वह दो साल तक बिस्तर पर थीं। काफी इलाज के बाद उनकी स्थिति में सुधार हो सका। इस हादसे का प्रीति की लाइफ पर भी गहरा असर पड़ा था। उन्हें इससे उबरने में काफी वक्त लगा था।

ऐसे मिला था ग्लैमर वर्ल्ड में पहला ब्रेक

प्रीति की स्कूलिंग शिमला के कॉन्वेंट ऑफ जीसस और मैरी स्कूल से हुई थी। इसके बाद उन्होंने सेंट बेड़े कॉलेज शिमला से आगे की पढ़ाई की। प्रीति बॉलीवुड की सबसे ज्यादा पढ़ी-लिखी एक्ट्रेसेस में से एक हैं। उन्होंने ग्रेजुएशन की पढ़ाई इंग्लिश ऑनर्स और पोस्ट ग्रेजुएशन क्रिमिनल साइकोलॉजी से किया था।

1996 में प्रीति एक दोस्त की बर्थ डे पार्टी में गई थीं जहां उनकी मुलाकात एक डायरेक्टर से हुई। इस डायरेक्टर ने उन्हें एक चॉकलेट के विज्ञापन में काम करने का ऑफर दिया जिसे प्रीति ने स्वीकार कर लिया। इसके बाद वो कई विज्ञापनों में दिखीं।

1997 में एक ऑडिशन के दौरान फिल्ममेकर शेखर कपूर की नजर प्रीति पर पड़ी और उन्होंने फिल्म ‘तारा रम पम’ ऑफर की, लेकिन ये फिल्म नहीं बन पाई। फिर प्रीति को कुंदन शाह की फिल्म क्या कहना ऑफर हुई।

ये फिल्म भी दो साल तक अटकी रही, लेकिन इस दौरान प्रीति ‘दिल से’ और सोल्जर जैसी फिल्मों में दिखीं और उनके फिल्मी करियर ने रफ्तार पकड़ ली।

सोल्जर’ ने दिलाई कामयाबी

‘सोल्जर’ 1998 में रिलीज हुई एक हिट फिल्म थी। इसे अब्बास-मस्तान ने डायरेक्ट किया था। फिल्म के लीड रोल में बॉबी देओल और प्रीति नजर आए थे। प्रीति ने ‘सोल्जर’ के 24 साल पूरे होने पर सोशल मीडिया पर लिखा था – ‘सोल्जर मेरी पहली साइन की गई फिल्म थी। मुझे कन्फ्यूजन थी कि मैं एक ही नाम के दो डायरेक्टर्स से साथ काम करने जा रही हूं। अब्बास और मस्तान भाई का शुक्रिया कि उन्होंने मुझे कभी भी डाउन नहीं फील होने दिया। रमेश जी का भी बहुत शुक्रिया करना चाहूंगी कि उन्होंने मुझे उस बात के लिए कभी नहीं सुनाया जब मैं क्लाइमैक्स शूट होने के पहले एक सप्ताह की छुट्टी लेकर अपना साइकोलॉजी का एग्जाम देने चली गई थी।’

6 साल पहले छोड़ दी थी फिल्म इंडस्ट्री

इसके बाद प्रीति ने अपने करियर में ‘कल हो न हो’, ‘वीर जारा’, ‘सलाम नमस्ते’, ‘कभी अलविदा न कहना’, ‘कोई मिल गया’ जैसी कई हिट फिल्मों में काम किया। हालांकि 2018 में रिलीज हुई ‘भैयाजी सुपरहिट’ के बाद प्रीति ने ब्रेक ले लिया।

अब हाल ही में मीडिया में खबरें आई हैं कि प्रीति फिल्मों में छह साल बाद वापसी कर सकती हैं। उन्होंने सनी देओल की अगली फिल्म लाहौर 1947 का लुक टेस्ट दिया है। इससे पहले सनी और प्रीति ने ‘हीरोः लव स्टोरी ऑफ अ स्पाई’, ‘फर्ज’ जैसी फिल्मों में साथ काम किया है।

कभी नहीं सोचा था एक्टिंग करूंगी- प्रीति

प्रीति ने एक इंटरव्यू में खुलासा किया था कि फिल्मों में वो इसलिए आई थीं क्योंकि उन्हें सिर्फ पैसा कमाना था। प्रीति ने कहा था, मैं सच बताऊं, मैं कभी नहीं जानती थी कि मैं एक्टर बनूंगी क्योंकि मैं बचपन से ही टॉम बॉय थी। मुझे अपने शहर का हर लड़का जानता था, क्योंकि खूबसूरत लड़कियां मेरी दोस्त हुआ करती थीं। कोई मेरा फ्रेंड नहीं बनना चाहता था और मुझे लोग बस मेरी सहेलियों तक पहुंचने के लिए स्टेपनी की तरह यूज करते थे।

किसी ने नहीं सोचा था कि मैं एक्ट्रेस बनूंगी। मैंने खुद भी सपने में ऐसा नहीं सोचा था। मैं क्रिमिनल साइकोलॉजी पढ़ रही थी, तभी मुझे फिल्मों में काम करने का चांस मिल गया। मैं जानती थी कि इसके मुझे अच्छे पैसे मिलेंगे इसलिए मैंने फिल्मों में काम करने के लिए हामी भर दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *