वृंदावन वाले प्रेमानंद महाराज के सीने में उठा दर्द, शिष्यों ने अस्पताल में कराया भर्ती, जानिए अब कैसी है तबीयत?

 

राधारानी की भक्ति में लीन संत प्रेमानंद जी महाराज की शुक्रवार, 12 अप्रैल की शाम अचानक तबीयत बिगड़ गई। उनके सीने में दर्द उठा। इसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। प्रेमानंद की तबीयत उस वक्त बिगड़ी, जब वे संध्या आरती में शामिल थे। अस्पताल में डॉक्टरों ने चेकअप के बाद उन्हें वापस वृंदावन स्थित उनके आश्रम में भेज दिया है। हालत स्थिर बताई जा रही है।

ALL SO REED- धरती की वजह से चांद पर बन रहा है पानी, Chandrayaan-1 के डेटा से खुलासा

पसीने से भीग चुके थे प्रेमानंद
रिपोर्ट्स के मुताबिक, शुक्रवार शाम श्रीराधारानी की संध्या आरती हो रही थी। इसमें प्रेमानंद जी महाराज शामिल थे। तभी उन्हें सीने में दर्द की शिकायत हुई। बावजूद इसके वे आरती में लीन रहे। थोड़ी देर में उनका पूरा शरीर पसीने में भीग गया। उस वक्त तक उन्हें हालात की गंभीरता का एहसास नहीं हुआ। दर्द बढ़ता चला गया।

शिष्यों ने उनकी हालत देखकर तत्काल उन्हें वृंदावन के राम कृष्ण सेवा आश्रम अस्पताल में भर्ती करवाया। डॉक्टरों ने कई तरह के टेस्ट किए। इको और टूडी टेस्ट भी हुआ। टेस्ट रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। हालांकि दवाएं देने के बाद उनकी हालत में सुधार हुआ तो वापस अपने आश्रम लौट आए हैं।
सुबह 2 बजे छोड़ देते हैं बिस्तर

प्रेमानंद जी महाराज 17 सालों से किडनी की बीमारी से जूझ रहे हैं। उनकी डायलिसिस भी होती है। प्रेमानंद जी महाराज प्रतिदिन अलसुबह 2 बजे उठते हैं। इसके बाद वे अपने निवास श्रीकृष्ण शरणम से पैदल ही रमणरेती स्थित राधाकेलि कुंज आश्रम पहुंचे हैं। इस पैदल यात्रा में उनका दर्शन पाने के लिए दूर-दूर से श्रद्धालु आते हैं।

ALL SO REED-JABALPUR NEWS: ब्रिटिश स्कूल के संचालक के आगे घुटना टेक हुई पुलिसः छात्र नेता के खिलाफ ऐसी कार्रवाई जैसे आतंकवादी हो

सोशल मीडिया पर काफी फेमस प्रेमानंदजी महाराज

प्रेमानंद जी महाराज सोशल मीडिया पर काफी फेमस हैं। वे आध्यात्मक प्रवचन देते हैं। उनके आश्रम पर कई वीवीआईपी दर्शन के लिए आते हैं। उनके प्रवचन लोगों को काफी पसंद आते हैं। हाल ही में मथुरा से भाजपा प्रत्याशी और सांसद हेमा मालिनी ने उनके दर्शन किए। साथ ही कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय राय ने भी उनसे आश्रम में मुलाकात की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *