बजरंग के अखाड़े में पहुंचे राहुल गांधी:WFI विवाद के बीच झज्जर के छारा गांव में पहलवानों से मिले

रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (WFI) के विवाद के बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी बुधवार सुबह हरियाणा में झज्जर के छारा गांव स्थित अखाड़े में पहुंचे। इस दौरान उनके साथ बजरंग पूनिया भी मौजूद रहे। राहुल गांधी ने बजरंग पूनिया के साथ काफी देर अखाड़े में कुश्ती भी की।

राहुल गांधी करीब पौने घंटे तक अखाड़े में रुके रहे। इस दौरान उन्होंने अखाड़े में कुश्ती के दांव-पेंच सीखने वाले नए पहलवानों और कोच वीरेन्द्र से भी मुलाकात की। वीरेंद्र ने ही बजरंग और दीपक पूनिया को कुश्ती के दांव-पेंच सिखाए थे। रेसलर बजरंग पूनिया और दीपक पूनिया ने इसी अखाड़े में कुश्ती की शुरुआत की थी।

मीडिया से बातचीत करते हुए रेसलर बजरंग पूनिया ने बताया कि राहुल गांधी अखाड़े में हमारा रूटीन देखने आए थे। राहुल गांधी ये देखने आए थे कि एक खिलाड़ी का जीवन कैसा होता है। पहलवानों के बीच काफी वक्त समय बीताने के बाद राहुल गांधी दिल्ली की तरफ रवाना हो गए।

गुलदस्ता नहीं मिला तो मूली निकालकर भेंट की
राहुल गांधी सुबह के वक्त में अखाड़े में पहुंचे थे। इस दौरान राहुल गांधी के स्वागत के लिए फूल का गुलदस्ता नहीं मिला तो अखाड़े के कोच ने खेत से मूली निकालकर उन्हें भेंट की।

26 दिसंबर को विनेश फोगाट ने सोशल मीडिया पर खेल रत्न और अर्जुन अवॉर्ड लौटाने का ऐलान किया था।
26 दिसंबर को विनेश फोगाट ने सोशल मीडिया पर खेल रत्न और अर्जुन अवॉर्ड लौटाने का ऐलान किया था।

विनेश फोगाट ने खेल रत्न-अर्जुन अवॉर्ड लौटाने का ऐलान किया
एक दिन पहले यानी मंगलवार को विनेश फोगाट ने खेल रत्न और अर्जुन अवॉर्ड लौटाने का ऐलान किया है। विनेश ने पीएम के नाम दो पेज का लेटर सोशल मीडिया पर पोस्ट किया है। इसमें लिखा- हमारे मेडल्स-अवॉर्ड्स को 15 रुपए का बताया जा रहा है। अब मुझे भी अपने पुरस्कारों से घिन आने लगी है। मुझे मेजर ध्यानचंद खेल रत्न और अर्जुन अवॉर्ड दिया गया था, जिनका अब मेरी जिंदगी में कोई मतलब नहीं रह गया है।

हर महिला सम्मान से जिंदगी जीना चाहती है। इसलिए प्रधानमंत्री सर, मैं अपना मेजर ध्यानचंद खेल रत्न और अर्जुन अवॉर्ड आपको वापस करना चाहती हूं ताकि सम्मान से जीने की राह में ये पुरस्कार हमारे ऊपर बोझ न बन सकें। विनेश ने कहा कि इस हालत में पहुंचाने के लिए ताकतवर का बहुत-बहुत धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *