जबलपुर में बच्ची से रेप अटैम्प्ट:टीआई ने मां से कहा- शिकायत से बदनामी होगी, अपना हाथ पकड़ने का केस दर्ज कराओ

जबलपुर में 3 साल की बच्ची से रेप का प्रयास किया गया। परिवार का आरोप है कि वे शिकायत करने घमापुर थाने पहुंचे तो पुलिस ने यह कहते हुए रिपोर्ट लिखने से मना कर दिया कि इससे बदनामी होगी। बच्ची की मां का आरोप है कि थाना प्रभारी ने उनसे कहा – ऐसा केस करा दो कि आरोपी ने तुम्हारा हाथ पकड़ा है।

बच्ची की मां को थाने से बाहर करने की जानकारी जब मोहल्ले के लोगों को मिली तो वहां भीड़ जुट गई। स्थानीय विधायक व पूर्व मंत्री लखन घनघोरिया भी मौके पर पहुंच गए। लोगों ने नारेबाजी की। थाना प्रभारी को भी घेर लिया। हालात बिगड़ते देख चार अन्य थानों का पुलिस बल मौके पर पहुंचा। दो CSP भी पहुंचे, तब जाकर भीड़ पर काबू पाया जा सका।

गुरुवार शाम 6 बजे से रात 11 बजे तक हंगामा चला। लोग थाना प्रभारी को निलंबित करने की मांग पर अड़े थे। ASP समर वर्मा ने बच्ची की मां से बात की। उन्होंने कहा कि थाना प्रभारी (TI) ने जो काम किया है, इसकी जांच करवाई जा रही है। आरोपी को भी गिरफ्तार किया जाएगा। इसके बाद लोग शांत हुए।

बच्ची के पड़ोस में रहता है आरोपी

बच्ची का परिवार घमापुर के हनुमानगढ़ी इलाके में रहता है। गुरुवार शाम बच्ची घर के अंदर अकेली सो रही थी। पड़ोस में रहने वाला कालू घर के अंदर घुस गया। अंदर से दरवाजा बंद कर दिया। इतने में बच्ची की बड़ी मां की उस पर नजर पड़ गई। उन्होंने शोर मचाया तो वह भाग निकला। बच्ची की मां भी आवाज सुनकर घर पहुंची। मां का कहना है कि बच्ची के शरीर पर कपड़े नहीं थे।

थाना प्रभारी बोले- केस नहीं कराओ, घर जाओ

बच्ची के परिजन का कहना है कि वे सीधा घमापुर थाना पहुंचे। थाना प्रभारी प्रमोद साहू ने कहा कि शिकायत मत दर्ज करवाओ। घर जाओ। हम खड़े रहे, वे आराम से कुर्सी पर बैठे रहे। ASP समर वर्मा को बच्ची की मां ने बताया कि थाना प्रभारी का कहना था कि रेप की शिकायत दर्ज न करवाते हुए यह कह दो कि मेरा हाथ पकड़ने का कालू ने प्रयास किया था। इससे बच्ची की बदनामी नहीं होगी।

भीड़ और पुलिस में नोकझोंक

बच्ची को लेकर उसकी मां 5 घंटे तक थाने के बाहर बैठी रही। भीड़ बढ़ने पर रांझी, ओमती, हनुमानताल, बेलबाग थाने का स्टाफ मौके पर पहुंच गया। CSP रांझी विवेक गौतम और पंकज मिश्रा भी थाने पहुंच गए। पुलिस और भीड़ के बीच नोकझोंक हुई। मौके पर पहुंचे स्थानीय विधायक लखन घनघोरिया का कहना है कि पुलिस बच्ची की मां को बयान बदलने के लिए मजबूर कर रही थी। यह कहीं से भी ठीक नहीं है। यह पुलिस की संवेदनहीनता है।

थाना प्रभारी बोले- शिकायत दर्ज कर ली थी

थाना प्रभारी प्रमोद साहू के मुताबिक बच्ची के साथ रेप का प्रयास किया गया था। जैसे ही परिवार के लोग आए तो पुलिस ने शिकायत दर्ज कर ली थी और आरोपी की तलाश भी शुरू कर दी गई थी। इस बीच बच्ची की मां के साथ भारी भीड़ आ गई और हंगामा होना शुरू हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *