इंदौर में आशा कार्यकर्ता से रेप:एक आरोपी ने बाहर से कमरा बंद किया, दूसरे ने मासूम के सामने किया दुष्कर्म

इंदौर के पास रहने वाली एक आशा कार्यकर्ता के साथ रेप की वारदात हो गई। आरोपी धार का रहने वाला है। डर और धमकी के चलते पहले तो आशा कार्यकर्ता चुप रही। लेकिन वारदात करने के बाद आरोपी दोस्त के साथ पीड़िता का पीछा भी करने लगा। इसके बाद पीड़िता ने हिम्मत कर केस दर्ज कराया।

चंदन नगर पुलिस के मुताबिक घटना 15 दिन पुरानी है। आरोपी गजेंद्र कटारे और सखाराम भील के खिलाफ रेप और धमकाने के मामले में केस दर्ज कर हिरासत में लिया गया है।

पीड़िता ने बताया कि वह आशा कार्यकर्ता के पद पर काम करती है। उसके दो बच्चे हैं। नावदा पंथ इलाके में उसकी बहन रहती है। जिसकी चार माह की बेटी है। पिछले दिनों उसकी तबीयत ठीक नहीं थी तो मैं उसे देखने गई थी।

27 फरवरी की दोपहर 2 बजे के लगभग वह बहन से बात कर रही थी। इस दौरान बहन ने मुझे कहा कि वह नजदीक की दुकान पर दूध लेने जा रही है। बेटी का ध्यान रखे। तब धार के भीकनखेड़ा में रहने वाला गजेंद्र कटारे और सखाराम भील वहां आए। दोनों जबरदस्ती घर में घुस गए। सखाराम ने बाहर से कमरे दरवाजा बंद कर दिया। गजेंद्र ने चिल्लाने पर उसका मुंह दबा दिया और जान से मारने की धमकी दी।

इसके बाद आरोपी ने धक्का देकर जमीन पर गिरा दिया और जबरदस्ती करने लगा। मेरे चिल्लाने से नजदीक लेटी बन की चार माह की बेटी भी जोर-जोर से रोने लगी। मैं काफी डर गई। इसके बाद बाहर दरवाजा खोलने की आवाज आई। मेरी बहन अंदर आई तब मैं जमीन पर पड़ी रो रही थी।

गजेंद्र ने मुझे और मेरी बहन को धमकी दी कि यह बात किसी को बताई तो दोनों बच्चों सहित मार देगा। इसके बाद बहन को धक्का देकर भाग गया। मुझे नीचे गिरने से हाथ-पैर में चोट के निशान आ गए। मैंने बहन को पूरी घटना बताई। दीदी और मैं इस घटना से काफी डर गए। धमकी के चलते यह बात किसी को नहीं बताई।

बाइक से किया पीछा, धमकाया
पीड़िता ने बताया कि 9 मार्च के दिन वह ड्यूटी करके स्कूटी से अपने घर जा रही थी। तब धार रोड़ पर गजेंद्र और सखाराम फिर पीछे पड़ गए। कमेंट करने लगे। इस हरकत से काफी डर गई। बाद में बहन को मामले की जानकारी दी। 12 मार्च को पति को पूरी बात बताई। उन्होंने पुलिस कार्रवाई करने की बात कही। बाद में बहन को साथ लेकर थाने में दोनों आरोपियों के खिलाफ शिकायत करने पहुंची।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *