जबलपुर में रिश्ते हुए कलंकितः हे भगवान ऐसे बड़े पापा किसी को मत देना, जो हवस मिटाकर गला घोंट दें

जबलपुर। पनागर में 8 साल की मासूम की हत्या मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। जिसमें एक आरोपी को गिरप्तार किया गया है। मासूम की हत्या नहीं उसके साथ घिनौनी हरकतें की गई, हवस मिटाई गई और ये सब किया है रिश्ते के बड़े पापा ने। जब पुलिस ने आरोपी को पकड़ा तो उसने सिले सिलेवार पूरी वारदात का खुलासा कर दिया। यह बात जब गांव वालों को पता चली कि मासूम का हत्यारा और कोई नहीं मासूम जिसे बड़ा पाप कहती थी वो है। लोगों के मुंह से यही बात निकल रही है कि ये भगवान ऐसे बड़े पापा किसी को मत देना।
26 मार्च को पनागर थाना क्षेत्र के पड़रिया गांव में बच्ची की रेप के बाद गला दबाकर हत्या कर दी गई थी। उसकी लाश तालाब में मिली थी। लोगों को शक था कि किसी शराबी ने वारदात को अंजाम दिया है। नाराज लोगों ने शराब दुकान में तोड़फोड़ कर आग लगा दी। 27 मार्च को गुस्साए लोगों ने चक्काजाम भी किया था। स्थानीय लोग और महिलाएं लगातार विरोध-प्रदर्शन करती रहीं। आरोपी मुकेश वंशकार ने पुलिस को बताया कि ‘मैं पड़रिया गांव का रहने वाला हूं। शादियों में बैंड-बाजा बजाने का काम करता हूं। बच्ची के घर से 100 मीटर दूर ही मेरा घर है। घर में पत्नी और 2 बच्चे हैं। बच्ची के घर आना-जाना था। 25 मार्च को होली के दिन भी उसके घर गया था। उसके यहां भी शराब पी थी। अगले दिन 26 मार्च की शाम भी अकेला साईं मंदिर के पास जाकर शराब पीने लगा। नशा चढ़ गया था।

बच्ची मंदिर की तरफ आ रही है। मैंने उसे पास बुलाया। चूंकि वह मुझे जानती थी, इसलिए आ गई। उसे बिस्किट खाने के लिए 20 रुपए दिए। कहा- चलो, बिस्किट खिलाता हूं। बच्ची बातों में आ गई और साथ चल दी। मंदिर से आंगनबाड़ी, पानी की टंकी होते हुए बच्ची को लेकर तालाब के पास पहुंचा। वहां बच्ची ने पूछा- बड़े पापा, कहां ले जा रहे हो? मैंने उसे फिर कुछ रुपए दे दिए। यहां बच्ची के साथ गलत काम किया। वह रोने लगी। कहने लगी- आपकी शिकायत पापा से करूंगी। पकड़े जाने के डर से बच्ची का गला दबा दिया। वह बेहोश हो गई। मरा समझकर उसे तालाब में फेंक दिया।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *