जबलपुर में रिटायर्ड बैंक कर्मचारी ने फांसी लगाई:सुसाइड नोट में सूदखोरी का आरोप; लिखा- 20% ब्याज देता रहा, घर आकर गाली-गलौज की

जबलपुर में मंगलवार देर रात 64 वर्षीय रिटायर्ड बैंककर्मी ने सुसाइड कर लिया। उनका शव खेत में पेड़ पर फांसी के फंदे पर मिला। मामला रोसरा गांव का है।

रिटायर्ड बैंककर्मी ने सुसाइड नोट भी छोड़ा है। उन्होंने लिखा, ‘श्रीमान टीआई साहब जी, गन्नू महराज नुनसर वालों से हमने 25000 रुपए उधार लिए। मैं 20 प्रतिशत की दर से ब्याज हर महीने देता रहा। इसके बदले में हमने एक चेक दिया है, बिना रकम लिखे, यानी ब्लैंक चेक। आज सुबह हमारे घर आकर हमारे साथ गाली-गलौज की। आधार कार्ड, पैन कार्ड उन्हीं के पास है। – रामगोपाल रैकवार

दिन भर घर बैठे रहे, रात को निकल गए घर से
पाटन थाना से करीब 8 किलोमीटर दूर ग्राम रोसरा में रामगोपाल रहते थे। परिजन ने बताया कि एक साल पहले रामगोपाल ने नुनसर गांव वाले गन्नू महाराज से 25 हजार रुपए ब्याज में लिए थे। हर माह ब्याज के 20 प्रतिशत यानी 5 हजार रुपए समय पर दे भी रहे थे। दो महीने से किसी कारणवश जब गन्नू महाराज को ब्याज नहीं मिला तो रामगोपाल को उन्होंने फोन करके पैसे मांगे।

उन्होंने समस्या बताई और जल्द ही पैसे देने की बात कही। मंगलवार की सुबह गन्नू महाराज कुछ लोगों को लेकर रामगोपाल के घर पहुंचे और गाली-गालौज करते हुए धमकी दी कि अगर रुपए नहीं मिले तो पूरे गांव में बेइज्जती कर दूंगा।

धमकी के बाद से परेशान थे। दिन भर घर पर बैठने के बाद रामगोपाल बिना किसी से कुछ कहे निकल गए। देर रात तक जब घर नहीं आए तो परिवार वाले तलाश करने लगे। मृतक के बेटे राजेंद्र सिंह रैकवार ने बताया कि अक्सर पिता खेत पर ही रात को ठहर जाया करते थे। मौके पर जाकर देखा तो वह फांसी के फंदे पर मिले।

गन्नू महाराज से की जाएगी पूछताछ

नुनसर चौकी में पदस्थ एएसआई डालसिंह झारिया ने बताया कि मृतक रिटायर्ड बैंक कर्मचारी के पास से सुसाइड नोट भी मिला है। इसमें गन्नू महाराज का नाम लिखा है। घटना की जांच की जा रही है। गन्नू महाराज से भी पूछताछ की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *