घर में राजनीतिक पर बयानबाजी:बसपा प्रत्याशी मुंजारे बोल चुनाव तक वो घर छोड़ दे, या मैं चला जाऊंगा; पत्नी बोली सात जन्मों का साथ है

सिद्धांत और उसूलों की राजनीति करने की बात करने वाले पूर्व सांसद कंकर मुंजारे ने अपनी ही पत्नी कांग्रेस विधायक अनुभा मुंजारे पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि लोकसभा चुनाव तक वे घर छोड़ दें और घर नहीं छोड़ने पर वे स्वयं घर छोड़कर चले जाने की बात भी कही है। उन्होंने कहा कि अनुभा मुंजारे, कांग्रेस का खूब प्रचार करें लेकिन इस वक्त, जब वह स्वयं प्रत्याशी हैं, वह चुनाव तक मेरे घर में ना रहे, कहीं और जाकर रहे।

वह मेरे घर में रहकर मेरे खिलाफ प्रचार करें, यह संभव नहीं है और यह सिद्धांत और उसूलों के खिलाफ है। वहीं अनुभा मुंजारे ने भी पलटवार करते हुए कहा है कि पत्नी होने के कारण मुंजारे से उनका ताउम्र का रिश्ता है। वह उनके इकलौते बेटे की मां भी हैं।

इसके पहले पूर्व सांसद और बसपा प्रत्याशी कंकर मुंजारे, यहीं नहीं रुके बल्कि उन्होंने कहा कि विधायक अनुभा मुंजारे, आज जिनका गुणगान कर रही हैं, वह शायद भूल गई है कि जब वह नपाध्यक्ष थी, तब भ्रष्टाचार के आरोप लगाकर उनके खिलाफ, भाजपा और कांग्रेस ने ही खाली कुर्सी-भरी कुर्सी का चुनाव कराया था। तब सांसद गौरीशंकर बिसेन और विधायक अशोक सिंह सरस्वार विरोध कर रहे थे। जिस चुनाव को हमने उन्हें (अनुभा मुंजारे) जिताया था।

पूर्व सांसद एवं बसपा प्रत्याशी कंकर मुंजारे ने यह हमला, विधायक अनुभा मुंजारे के एक सभा में कांग्रेस प्रत्याशी को जीताने की अपील के बाद किया है। उन्होंने कहा कि प्रत्याशी को हटाने के लिए दिल्ली गई और जब मुंह लटकाकर, अपमानित होकर वापस लौटीं, तो आज उसे ही बढ़िया आदमी बताकर उनके नाम के कसीदे पढ़ रही हैं और वोट मांग रही है।

शर्म करो, लोगों को गुमराह मत करो, वोट अमूल्य होता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कहते है कि कंकर मुंजारे को हराओ और अनुभा मुंजारे हंस रही है, खुश हो रही है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने बालाघाट संसदीय क्षेत्र में भाजपा के साथ सांठगांठ कर ली है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस प्रत्याशी सम्राट सिंह सरस्वार, भाजपा नेता गौरीशंकर बिसेन के कृपापात्र रहे हैं।

पत्नी ने किया पलटवार, बोलीं सात जन्मों तक का रिश्ता

पूर्व सांसद और बसपा प्रत्याशी के आरोप पर पलटवार करते हुए विधायक अनुभा मुंजारे का भी बयान आया है। दूरभाष पर चर्चा करते हुए विधायक अनुभा मुंजारे ने कहा कि वह एक भारतीय नारी और ब्याहता पत्नी हैं। मैंने हमेशा मर्यादित आचारण के साथ राजनीति का काम किया है। पत्नी होने के कारण मुंजारेजी से उनका ताउम्र का रिश्ता है। वह इकलौते बेटे की मां भी हैं और बेटा भी कांग्रेस में है। तो हम-दोनों को प्रचार करेंगे।

वह चुनाव में कांग्रेस पार्टी की विधायक और सिपाही के रूप में निकलेंगी और पार्टी के प्रत्याशी के लिए ईमानदारी और निष्ठा से काम करके जनता के लिए उनके विजयश्री का आशीर्वाद मांगेगी। मैं हर भूमिका निभाने तैयार हूं, मुंजारेजी ने क्या सोचकर बोले यह उनका अधिकार है, लेकिन उनके प्रति मेरी निष्ठा है, हमारा सात जन्मों तक रिश्ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *