पश्चिम बंगाल में राम नवमी पर बवाल: मुर्शिदाबाद में शोभायात्रा पर छतों से फेंके पत्थर, झड़प में कई घायल

West Bengal:  पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में बुधवार, 17 अप्रैल को रामनवमी पर बवाल हो गया। शोभायात्रा पर छतों से पत्थर फेंके गए। जिसमें कई लोग घायल हो गए। किसी का सिर फूटा तो कोई भगदड़ में गिरकर जख्मी हो गया। घायलों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। पथराव के कई वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आए हैं। कांग्रेस और भाजपा ने ममता बनर्जी सरकार पर निशाना साधा है। West Bengal:

पुलिस ने किया लाठीचार्ज, आंसू गैस के गोले दागे
West Bengal: पथराव की घटना शक्तिपुर इलाके की है। यहां रामनवमी पर शोभायात्रा निकाली जा रही थी। लोग हाथों में भगवा झंडा लिए जय श्री राम का जयघोष कर रहे थे। तभी अराजक तत्वों ने शोभायात्रा पर पथराव कर दिया। इससे भगदड़ मच गई। वहीं, लोगों में आक्रोश भी फैल गया।

भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा और आंसू गैस के गोले दागने पड़े। पुलिस ने आगे कहा कि स्थिति को नियंत्रण में ले लिया गया है और क्षेत्र में अतिरिक्त बल भेजा गया है। घायल लोगों को बेहरामपुर के मुर्शिदाबाद मेडिकल कॉलेज और अस्पताल ले जाया गया।

सुवेंदु अधिकारी ने पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप
West Bengal: बीजेपी की बंगाल इकाई ने आरोप लगाया है कि रैली पर पथराव किया गया और दुकानों में तोड़फोड़ की गई। विपक्ष के नेता सुवेंदु अधिकारी ने कहा कि प्रशासन से अनुमति लेकर शांतिपूर्वक शोभायात्रा निकाली गई थी। लेकिन मुर्शिदाबाद में शक्तिपुर, बेलडांगा- II ब्लॉक में उपद्रवियों ने हमला किया गया। हैरान करने वाली बात यह है कि ममता की पुलिस इस भयानक हमले में उपद्रवियों के साथ खड़ी नजर आई। पुलिस ने लाठीचार्ज किया और आंसू गैस छोड़ी। राम भक्तों पर गोले दागे गए, ताकि शोभायात्रा को खत्म किया जा सके।

ALL SO REED: JABALPUR NEWS: ब्रिटिश स्कूल के संचालक के आगे घुटना टेक हुई पुलिसः छात्र नेता के खिलाफ ऐसी कार्रवाई जैसे आतंकवादी हो

अधीर रंजन ने किया क्षेत्र का दौरा
बहरामपुर के सांसद और कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने बुधवार शाम को क्षेत्र का दौरा किया। उन्होंने कहा कि मैं मालदा से झड़प में घायल हुए लोगों को देखने आया था। लेकिन भाजपा कार्यकर्ताओं ने अस्पताल में यह दावा करते हुए विरोध प्रदर्शन किया कि हिंदुओं पर हमला हो रहा है और मुझसे जवाब मांग रहे हैं। अरे भाई विरोध करने वालों को सवाल ममता बनर्जी से करना चाहिए, क्योंकि वह जवाबदेह हैं।

उन्होंने दावा किया कि दंगे एक योजना के तहत भड़काए जा रहे हैं और भाजपा का विरोध यह साबित करता है। मैंने चुनाव आयोग से बात की है। शक्तिपुर में अतिरिक्त बल भेजे गए हैं और एसपी मौके पर हैं। मैं चुनाव आयोग के भी लगातार संपर्क में हूं।

सीएम ममता ने दी थी चेतावनी
यह घटना मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा मुर्शिदाबाद में रामनवमी पर दंगे भड़कने की चेतावनी के कुछ दिनों बाद हुई है। हाल ही में चुनाव आयोग ने जिले में हिंसा और पर्यवेक्षण की कमी को लेकर मुर्शिदाबाद के पुलिस उप महानिरीक्षक को हटा दिया था।

ममता बनर्जी ने सोमवार को कहा था कि आज भी, सिर्फ बीजेपी के निर्देश पर मुर्शिदाबाद के DIG को बदल दिया गया। अब, अगर मुर्शिदाबाद और मालदा में दंगे होते हैं, तो जिम्मेदारी चुनाव आयोग की होगी। बीजेपी दंगे और हिंसा भड़काने के लिए पुलिस अधिकारियों को बदलना चाहती थी। अगर एक भी दंगा होता है, तो ईसीआई जिम्मेदार होगा।

ALL SO REEDJABALPUR NEWS: ब्रिटिश स्कूल के संचालक के आगे घुटना टेक हुई पुलिसः छात्र नेता के खिलाफ ऐसी कार्रवाई जैसे आतंकवादी हो

West Bengal: इससे पहले बुधवार को ममता बनर्जी ने आरोप लगाया था कि रामनवमी के मौके पर राज्य में दंगे भड़काने की साजिश रची जा रही है। ममता बनर्जी ने एक चुनावी रैली में आरोप लगाया कि वे आज दंगे में शामिल होंगे। दंगा होने की संभावना है और वे दंगा करके और वोट लूटकर (चुनाव) जीतेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *