जबलपुर में बैंक मैनेजर की पत्नी का सुसाइड:पति से शिकायत थी कि समय नहीं देता; विवाद के बाद फंदे से झूली

जबलपुर में सेंट्रल बैंक के मैनेजर की पत्नी ने सुसाइड कर लिया। घटना शुक्रवार सुबह की है। शनिवार को शव का पोस्टमॉर्टम होना है। पुलिस को सुसाइड नोट मिला है, लेकिन अभी इसका खुलासा नहीं किया गया है। शुरुआती जांच में पता चला है कि पति-पत्नी में एक दिन पहले विवाद हुआ था। पत्नी को पति से शिकायत थी कि वह उसे और बच्चों को समय नहीं देता है।

विजय नगर मथुरा बिहार कॉलोनी में रहने वाले विवेक श्रीवास्तव गुरुवार देर रात को बैंक से जब घर लौटे तो पत्नी शिवानी ने बच्चों पर ध्यान देने की बात कही। इसे लेकर दोनों में विवाद हुआ। शिवानी कमरे में चली गई और अंदर से लॉक कर लिया। शुक्रवार दोपहर को शिवानी फंदे से लटकी मिली।

शिवानी के परिवार वाले शनिवार को जबलपुर पहुंचे हैं। उनके बयान लिए जा रहे हैं। पुलिस का कहना है कि जल्द मौत की वजह का खुलासा किया जाएगा।

दरवाजा तोड़ा तो फंदे पर लटकी थी शिवानी

विजय नगर थाना प्रभारी प्रतीक्षा मार्कों ने बताया, विवेक श्रीवास्तव करीब तीन साल से सेंट्रल बैंक जबलपुर में पदस्थ है। विवेक और शिवानी का 8 साल का बेटा और दो साल की बेटी है। गुरुवार रात विवाद के बाद शिवानी कमरे में चली गई और विवेक बच्चों के साथ अलग कमरे में सो गया।

शुक्रवार को विवेक के बेटे का पेपर था। सुबह वह स्कूल चला गया। शिवानी काफी देर तक कमरे से बाहर नहीं निकली तो विवेक ने दरवाजा खटखटाया। लेकिन अंदर से कोई आवाज नहीं आई। विवेक ने जीजा संजय को फोन किया। संजय विवेक के घर पहुंचे। दरवाजा तोड़ा तो शिवानी फंदे पर लटकी थी।

संजय ने विजय नगर पुलिस को सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची और शव का पंचनामा कर पोस्टमॉर्टम के लिए मेडिकल भेजा। इसके बाद विवेक और शिवानी के परिजनों को सूचना दी गई।

बेटा घर लौटा तो उसे मां नहीं मिली। बेटी को पता ही नहीं है कि क्या हो गया। वह बस मां के पास जाने की जिद कर रही है।

पति बोला- पत्नी हमेशा शिकायत रहती थी

पुलिस की पूछताछ में विवेक ने बताया, शिवानी हमेशा उससे शिकायत करती रहती थी कि मैं नौकरी में ही पूरा समय देता हूं। गुरुवार रात को मैं दोनों बच्चों को रात 12 बजे तक पढ़ाता रहा। इस दौरान शिवानी भी वहीं बैठी रही। रात को मैं नीचे हॉल में बच्चों के साथ रुक गया। शिवानी फर्स्ट फ्लोर पर कमरे में चली गई। शुक्रवार को बेटे का एग्जाम था। मुझे लगा शिवानी देर रात तक जागी है, इसलिए सुबह उसे परेशान नहीं किया मैंने बेटे को तैयार कर स्कूल भेज दिया। दोपहर तक शिवानी कमरे से बाहर नहीं निकली तो जीजा को कॉल किया।

यूपी के रहने वाले, 12 साल पहले की थी शादी

विवेक श्रीवास्तव उत्तर प्रदेश के महोबा जिले के रहने वाले हैं। 2009 में विवेक की मुलाकात झांसी की रहने वाली शिवानी नामदेव से हुई थी। कुछ समय बाद दोनों ने शादी करने का फैसला किया। विवेक की अच्छी जाॅब थी, इसलिए शिवानी के परिवार ने आपत्ति नहीं की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *