अपनों के दिए दर्द से इंदौर में तड़प रही बच्ची:दो परिवार आपस में झगड़े थे; लात मारते ही खौलता पानी मासूम पर गिरा

यह दर्दनाक कहानी है चार साल की बच्ची की। वह इंदौर के MY अस्पताल के ICU में 5 दिन से भर्ती है। उसके शरीर का 50 फीसदी हिस्सा झुलस गया है। इसकी वजह थी दो परिवारों के बीच का आपसी झगड़ा..। दरअसल, घटना 27 मार्च को खंडवा में हुई थी। बच्ची के परिवार और उनके पड़ोसी में किसी बात पर झगड़ा हो गया था। जमकर लात-घूंसे चले।

इसी बीच एक व्यक्ति ने पास में रखे गर्म पानी के पतीले में लात मार दी। इसका खौलता पानी पास खड़ी मासूम बच्ची के शरीर पर आ गिरा। उसी के बाद से वह अस्पताल में भर्ती है। चेहरे को छोड़कर उसके शरीर का अधिकतर हिस्सा झुलसा हुआ है। वह तड़प-तड़प मां-बाप को पुकार रही है..। वहां मौजूद अपनी नानी से बार-बार कह रही है कि मुझे गोदी में उठा लो। कुछ कहते-कहते ही रो पड़ती है।

उसकी यह तड़प देखकर दूसरे बच्चों के साथ अटेंडर के भी आंसू आ रहे हैं। मां शहजादी और पिता मोहम्मद समीर रंगरेज संभालने की नाकाम कोशिश कर रहे हैं। बच्ची को देख वे भी रुंआसे हो जाते हैं। अपने ही हालात को कोस रहे हैं। कहते हैं कि रमजान में यही दुआ करते हैं, उसे जल्द अच्छा कर दे। हमारे झगड़े की सजा वह क्यों भुगत रही है? जिन लोगों ने उसके साथ ऐसा किया, उन्हें सजा मिले। मामले में पुलिस ने झगड़े में शामिल छह लोगों पर केस दर्ज कर रखा है।

बच्ची की मां शहजादी ने सिलसिलेवार घटना बताते हुए कहा कि पड़ोस में हमारे ही कुछ रिश्तेदार रहते हैं। इनसे आठ साल से विवाद चला आ है। दोनों पक्षों में कई बार विवाद हुआ। रिश्तेदारों और पुलिस की समझाइश के बाद समझौता हो जाता था।

27 मार्च की दोपहर मेरे ससुर घर के बाहर भट्‌टी पर गरम पानी का पतीला रखकर कपड़े रंग रहे थे। इसी दौरान रिश्तेदार इस्माइल उर्फ जुगा पिता बाबू रंगरेज, इजराइल पिता इस्माइल, इरफान पिता इस्माइल उन्हें घूरकर देखने लगे। आपत्ति ली तो तीनों ने मिलकर लात-घूंसों से पिटाई शुरू कर दी।

ससुर के बचाव के लिए पति मो. समीर व देवर आए तो उनके साथ भी मारपीट की। क्षेत्र के लोग इकट्‌ठे हो गए। तब तक दूसरे पक्ष के अन्य रिश्तेदार अल्फेस पिता नासीर, अंसार पिता शेरू और अबरार पिता नसीर ने भी आकर विवाद किया।

झगड़ा होता देख मेरी बेटी कांपने लगी। बात इतनी बढ़ गई कि आरोपी इस्माइल ने गर्म पानी के पतीले को लात दे मारी। इसका खौलता पानी बेटी पर जा गिरा। वह जोर-जोर से चीखने लगी। इस दौरान एक अन्य ने पतीले में बचा पानी भी बच्ची पर फेंक दिया। पहले बेटी को खंडवा अस्पताल लाए, वहां से तत्काल इंदौर MY रेफर कर दिया गया। अब दुआ है कि बेटी सलामत हो जाए।

हमारी बेटी की तड़प देखकर वहां मौजूद अन्य अटेंडर्स के भी आंसू आ रहे हैं। हम भी बच्ची को देखकर रुंआसे हो जाते हैं। अपने ही हालात को कोस रहे हैं। रमजान में यही दुआ करते हैं, उसे जल्द अच्छा कर दे। हमारे झगड़े की सजा वह क्यों भुगत रही है? जिन लोगों ने उसके साथ ऐसा किया, उन गुनहगारों को सजा मिले।

50% जली मासूम, केवल चेहरा बचा

बता दें कि 27 मार्च की इस घटना के बाद खंडवा कोतवाली पुलिस ने आरोपी इस्माइल, इजराइल, इरफान, अंसार और अबरार के खिलाफ मारपीट, बदसलूकी व जान से मारने की धमकी की धारा के तहत केस दर्ज किया। चौंकाने वाली बात यह कि मासूम का अगला हिस्सा 50% जला है। इसके बावजूद पुलिस ने गंभीर धाराएं नहीं लगाई। दूसरा यह कि, घटना का वीडियो भी सामने आया है जिसमें आपाधापी के बीच खौलता पानी गिरता दिख रहा है।

डॉक्टर के ओपिनियन पर गंभीर धाराएं लगाएंगे

खंडवा के कोतवाली टीआई दिलीपसिंह देवड़ा के मुताबिक सभी छह आरोपियों की धरपकड़ की जा रही है। आरोपियों के खिलाफ पूर्ववत धारा 324 लगाई गई है। डॉक्टर के ओपिनियन के आधार पर गंभीर धाराएं बढ़ाई जाएगी। आरोपियों को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *