धोखेबाज दुल्हन का सच: इनकम टैक्स अफसर बीवी का पकड़ा गया झूठ… जिसको बताया जीजा, वो निकला पहला पति

इनकम टैक्स अफसर बनकर फजलगंज थाने में तैनात सिपाही जितेंद्र गौतम से शादी करके उसे 10 लाख का चूना लगाने वाली धोखेबाज दुल्हन शिवांगी सिसौदिया उर्फ सविता देवी का एक और झूठ पुलिस ने पकड़ा लिया। जिसे वह अपना जीजा बता रही थी, वह उसका पहला पति निकला।

नजीराबाद पुलिस मंगलवार को झांसी में उसके पहले पति की फुटवियर दुकान और घर पर पहुंची, लेकिन वह दोनों बच्चों के साथ गायब मिला। इसके बाद पुलिस उसके असली मायके वालों तक पहुंची और उनके बयान दर्ज किए। गरीबी में पली शिवांगी के अपने महंगे शौक पूरे करने क लिए कइयों को प्रेम जाल में फंसाने की पुलिस को आशंका है।

झांसी के खुशीपुरा कचहरी के पास रहने वाली शिवांगी सिसौदिया उर्फ सविता देवी उर्फ पिंकी गौतम उर्फ सविता शास्त्री ने सिपाही जितेंद्र से फेसबुक पर दोस्ती की। फर्जी इनकम टैक्स इंस्पेक्टर बनकर वर्ष 2021 में झांसी में शादी की थी। उसकी शादी में उसका सोनू नाम का प्रेमी वीडियोग्राफर बना था।

एक मुस्लिम महिला उसकी भाभी बनी थी और तमाम नाच, गाना करने वाली महिलाएं और युवतियां उसकी रिश्तेदार बनकर शादी में शामिल हुई थीं। नजीराबाद में जितेंद्र के साथ रहने के दौरान कुछ समय पहले जब सिपाही ने शिवांगी को फ्लैट में उसके प्रेमी के साथ रंगे हाथ पकड़ा तब उसकी असलियत सामने आने के बाद जितेंद्र ने उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी।

पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। शिवांगी के पूरे गैंग का पर्दाफाश करने, उसके खिलाफ मजबूत साक्ष्य जुटाने के लिए नजीराबाद पुलिस उसके मूल निवास झांसी के मऊरानीपुर में मंडी के पास रहने वाले पहले पति बृजेंद्र की दुकान और घर पर पहुंची। हालांकि, वह पहले ही गायब हो गया था। ऐसे में पुलिस को उसके भी गैंग में शामिल होने की आशंका है।

शिवांगी ने बृजेंद्र को अपना जीजा बताते हुए सिपाही के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए पूर्व में तहरीर भी दी थी, लेकिन उसका झूठ पकड़ा गया। पुलिस ने शिवांगी के गुरसहाय थाना क्षेत्र के नुरारी गंव स्थित मायके पहुंचकर उसके असली पिता, भाई और भाभी से पूछताछ की। विवेचक थाना प्रभारी कौशलेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि शिवांगी के खिलाफ महत्वपूर्ण साक्ष्य मिले हैं।

शिवांगी का असली नाम सविता देवी अहिरवार
परिजनों ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि शिवांगी का असली नाम सविता देवी अहिरवार है। उसकी पहली शादी वर्ष 2007-08 में बृजेंद्र से हुई थी। उनके 13 साल की बेटी और 10 साल का बेटा है। बृजेंद्र ने मंडी में ही नरेश फुटवियर नाम से दुकान है।

मजदूरी करने वाले पिता व भाई ने बताया कि सविता उर्फ शिवांगी से उनका छह-सात साल से लेनादेना नहीं है। ग्रामीणों ने पुलिस को बताया कि साधारण सी दिखने वाली सविता जब गांव आई थी तब उसने खुद का चयन इनकम टैक्स इंस्पेक्टर के रूप में होने की जानकारी दी थी।

गांव से निकली सविता बन गई शहर की मैडम
पुलिस के मुताबिक नुरारी गांव के लोगों ने पुलिस को बताया कि साधारण परिवार के ताल्लुक रखने वाली सविता ने बहुत महत्वाकांक्षी है। उसने अपने महंगे शौक को पूरा करने के लिए नाम बदलने के साथ ही अपना पहनावा भी बदल लिया।

गांव में साड़ी पहनने वाली शिवांगी मिडी और स्कर्ट पहनकर शहर की मैडम बन गई। वह सोशल मीडिया व अन्य माध्यमों से आकर्षक लुक वाली अपनी तस्वीरें पोस्ट किया करती थी।उसकी फोटो और प्रोफाइल देखकर उसके जाल में कई लोग फंसे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *