डिफेंस के ये Stocks कर सकते हैं बड़ा धमाल, ब्रोकरेज ने कहा मिल सकता है बंपर रिटर्न


फिलिप कैपिटल ने कहा कि डिफेंस सेक्टर (Defence Sector) में अगले 6-8 साल में 110 अरब डॉलर की डील के अवसर देखने को मिल सकते हैं. कहा गया कि रिस्क-रिवार्ड-रेश्यो भारत इलेक्ट्रॉनिक्स (BEL), भारत डायनेमिक्स, सोलर इंडस्ट्रीज इंडिया और एमटीएआर टेक्नोलॉजीज जैसे डिफेंस शेयरों (Defence Stocks) के लिए अनुकूल दिख रहा है. डिफेंस शेयरों को अनुकूल स्थिति में रखा गया है क्योंकि वे लॉन्ग टर्म में एग्जीक्यूशन ग्रोथ का नजरिया प्रदान करते हैं. आइए नजर डाल लेते हैं कुछ डिफेंस सेक्टर्स के स्टॉक पर, जो आने वाले समय में जोरदार रिटर्न देने वाले साबित हो सकते हैं.

इस वजह से बढ़ सकता है प्रोडक्ट मार्जिन

फिलिप कैपिटल स्थानीय मैन्युफैक्चरिंग, अग्निपथ योजना और रणनीतिक साझेदारी के लिए सर्वोच्च प्राथमिकता वाली अनुकूल नीतियों को लेकर आशावादी है. फिलिप कैपिटल ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में विकसित एफिशिएंसी और स्वदेशीकरण के कारण मुख्य डिफेंस प्रोडक्टस से मार्जिन बढ़ सकता है. कुल मिलाकर इस जोन पर हम पॉजिटिव बने हुए हैं. हालांकि, अनुकूल रिस्क-रिवार्ड रेश्यो को देखते हुए हम भारत इलेक्ट्रॉनिक्स, भारत डायनेमिक्स और सोलर इंडस्ट्रीज इंडिया को प्राथमिकता देते हैं.

फिलिप कैपिटल ने भारत इलेक्ट्रॉनिक्स पर 159 रुपये का टारगेट प्राइस रखा है. इसमें कहा गया है कि कंपनी के पास 60 फीसदी की बाजार हिस्सेदारी के साथ अधिक स्पेशल डिफेंस इलेक्ट्रॉनिक्स जोन में एक मजबूत प्लेयर है. ये बड़े डिफेंस कॉन्ट्रैक्ट को एग्जीक्यूट करने की क्षमता रखता है.

हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड

हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) पर ब्रोकरेज ने कहा कि कंपनी भारत की एयरोस्पेस की कहानी पर बेस्ड है. फिलिप कैपिटल ने कहा कि शॉर्ट टर्म की कहानी एलसीए तेजस को भारतीय वायुसेना में शामिल करने के इर्द-गिर्द घूमती है, लेकिन जैसे-जैसे कहानी डेवलप होती है. भारतीय सशस्त्र बलों के आधुनिकीकरण के कारण इसके डिफेंस बुक में महत्वपूर्ण प्रगति देखने को मिल सकती है.

मैन्युफैक्चरिंग HAL का मुख्य सेगमेंट है. लेकिन रिपेयर और ओवरहाल (ROH) एक और सेगमेंट है, जिसे 250 से अधिक एसयू-30 और 300+ एएलएच की डिलीवरी पूरी होने के साथ गति मिलनी चाहिए. एक बेहतरीन ऑर्डर पाइपलाइन के साथ, हमें कंपनी के प्रति पॉजिटिव बनाता है. ब्रोकरेज ने स्टॉक पर 1,428 रुपये का टारगेट प्राइस का सुझाव दिया है.

भारत डायनेमिक्स

भारत डायनेमिक्स भारतीय सशस्त्र बलों को सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइलों (SAM), एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइलों (ATGM) और टॉरपीडो की एकमात्र आपूर्तिकर्ता रही है. एस्ट्रा (हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल) की अपनी हालिया पेशकश के साथ इसने वित्त वर्ष 2026 तक भारत की 24.5 बिलियन डॉलर की मिसाइल मांग के अपने टारगेट मार्केट को 61 प्रतिशत तक बढ़ा दिया है.

भारत डायनेमिक्स के ऑर्डर बैकलॉग में गिरावट, एक प्रमुख चिंता का विषय है. अगले 3-5 वर्षों में इसकी ऑर्डर पाइपलाइन 30,000 करोड़ रुपये से अधिक हो सकती है. इस ब्रोकरेज ने स्टॉक पर 2,637 रुपये का लक्ष्य रखा है.

(नोट: शेयर बाजार में निवेश से पहले वित्तीय सलाहकार की मदद जरूर लें)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *