पति-पत्नी के रिश्ते में दूरियां ला देती हैं ये बातें, बोलने से पहले सोच लें

ये बात हम सभी जानते हैं कि शादीशुदा लाइफ को खुशहाल बनाने के लिए प्यार के साथ ही एक-दूसरे से बात करना और अपनी परेशानियों को शेयर करना काफी जरूरी माना जाता है. लेकिन कई बार पार्टनर्स के बीच में एक आपसी मनमुटाव देखने को मिलता है जिससे धीरे-धीरे उनका रिश्ता फीका पड़ने लगता है. ऐसे में आज हम आपको कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं जिससे आप अपने रिश्ते में आने वाले गैर जरूरी मनमुटाव और लड़ाई-झगड़े से बच सकते हैं. हम आपको कुछ ऐसी बातों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें आपको कभी भी अपने पार्टनर से नहीं बोलनी चाहिए. आइए जानते हैं क्यों.

‘तुमसे शादी करके पछता रही/रहा हूं’- शादी को लेकर पछतावा जाहिर करना आपके पार्टनर के लिए काफी दुख भरा साबित हो सकता है. इससे आपके रिश्ते में प्यार तो कम होगा ही साथ ही भरोसा भी टूट जाएगा. ऐसे में पछतावा जाहिर करने से अच्छा है कि आप आने वाले चैलेंजेस का एक साथ सामना करें.

तुम अपने माता-पिता जैसे/जैसी हो’- अपने पार्टनर की तुलना उनके पेरेंट्स से करना आपके रिश्ते क लिए खराब साबित हो सकता है. ऐसा कहने से आपके रिश्ते पर एक नेगेटिव प्रभाव पड़ता है. ऐसे में जरूरी है कि अगर आपको किसी बात का बुरा लग रहा है तो डायरेक्ट पार्टनर से उस बारे में बात करें.

‘मैं तुमसे बिल्कुल प्यार नहीं करती/करता’- यह शब्द पार्टनर के लिए काफी कठोर होते हैं और आपके रिश्ते को बर्बाद कर सकते हैं. अगर आपको अपने प्यार पर जरा भी संदेह है तो उसके लिए कपल काउंसलिंग  या थेरेपी लें.

‘काश मेरी शादी किसी और से होती’- किसी और से शादी की इच्छा जाहिर करने से आपके पार्टनर का दिल टूट सकता है. यह सब कहने की बजाय जरूरी है कि आप अपने मौजूदा रिश्ते में सुधार करें.

‘सारी परेशानियों का कारण तुम हो’- शादीशुदा लाइफ में सभी दिक्कतों के लिए पार्टनर पर इल्जाम लगाना काफी खतरनाक साबित हो सकता है. इससे ना तो समस्या का समाधान निकलता है और ना ही रिश्ता मजबूत होता है. ऐसे में जरूरी है कि किसी भी समस्या से निपटने के लिए एक-दूसरे का साथ दें ना कि एक-दूसरे पर इल्जाम लगाएं.

‘तुम बहुत बुरे पेरेंट हो’- पार्टनर की पेरेंटिंग स्किल को लेकर उसे अपमानित करना आपके रिलेशनशिप के लिए खतरनाक साबित हो सकता है. पेरेंटिंग को लेकर पार्टनर्स के बीच में हल्की-फुल्की नोक-झोंक होना आम बात है लेकिन जरूरी है कि आप बच्चे के आगे एक-दूसरे से आदर से बात करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *