ट्रक-बस ड्राइवरों की हड़ताल तीसरे दिन खत्म:सुबह से दौड़ने लगे ट्रक-बसों के पहिए, यात्रियों को बड़ी राहत

हिट एंड रन कानून के खिलाफ चल रही हड़ताल इंदौर में खत्म हो गई है। हालांकि प्रदेश के कई शहरों में असमंजस की स्थिति बनी रही। दरअसल ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस की परिवहन समिति (AIMTC) ने ड्राइवरों से हड़ताल खत्म करने की अपील की थी।

समिति और इंदौर ट्रक एसोसिएशन के अध्यक्ष सीएल मुकाती और ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राकेश तिवारी ने कहा, ‘नई दिल्ली में केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने मंगलवार को ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस से मीटिंग की। उन्होंने कहा कि नया कानून अभी लागू नहीं हुआ है। भारतीय न्याय संहिता 106/2 लागू करने से पहले AIMTC प्रतिनिधियों के साथ चर्चा होगी, उसके बाद ही कोई निर्णय होगा।’

इसके बाद बुधवार सुबह से स्कूल, सिटी और आई बसों के संचालन नियमित रूप से शुरू हो गया है। हालांकि पुलिस-प्रशासन का पूरा सहयोग व सुरक्षा रहेगी। मंगलवार को शहर में पेट्रोल-डीजल को लेकर किसी प्रकार की परेशानी नहीं हुई।

सुबह जरूर कुछ पेट्रोल पंपों पर लाइनें लगी लेकिन दोपहर बाद स्थिति पूरी तरह सामान्य हो गई। इसी तरह दूध वितरण को लेकर भी किसी तरह की परेशानी नहीं हुई। रात को भी दूध सप्लाई रोज की तरह हुआ।

हाईकोर्ट ने कहा था- हड़ताल खत्म कराए सरकार

मंगलवार को मध्यप्रदेश हाईकोर्ट ने सरकार को हड़ताल खत्म कराने के निर्देश दिए थे। दो याचिकाओं पर सुनवाई में हाईकोर्ट ने कहा था, ‘हड़ताल को तुरंत खत्म करवाया जाए। सरकार परिवहन बहाल करवाए।’

इस पर सरकार की तरफ से महाधिवक्ता प्रशांत सिंह ने कहा था, ‘आज शाम तक इस मामले में अहम निर्णय लिया जा रहा है।’ ये याचिकाएं नागरिक उपभोक्ता मंच और अखिलेश त्रिपाठी की ओर से दायर की गई हैं।

दरअसल, ड्राइवर हिट एंड रन से जुड़े उस कानून का विरोध कर रहे हैं, जिसमें 10 साल की सजा और 7 लाख रुपए जुर्माने का प्रावधान किया गया है। सोमवार और मंगलवार दो दिन चली ड्राइवर्स की हड़ताल के चलते भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर सहित अन्य जिलों में दूध से लेकर सब्जी और किराना सप्लाई कम हुई है। ज्यादातर शहरों में सब्जियां महंगी हो गईं। स्कूल-कॉलेज बसें बंद रहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *