दो पुलिसकर्मी लूट में गिरफ्तार, डीएसपी ने शिनाख्त के बाद वर्दी उतरवाई

इंदौर। मध्य प्रदेश के इंदौर जिले के एक थाने के दो सिपाहियों को बस चालक से 14 लाख रुपये लूट की पुलिस अधिकारियों ने ऐसी सजा दी है कि वह पुलिस विभाग में सबक बनेगी। पुलिस अधिकारियों ने लूट में शामिल होने वाले सिपाहियों की शिनाख्त के लिए पूरे थाने के स्टाफ को कतारबद्ध खड़ा कराकर परेड़ कराई। पुष्टि होते ही चंदननगर थाने के दोनों सिपाहियों की तत्काल वर्दी उतरवाई और गिरफ्तार कर हवालात में डालवा दिया।

डीसीपी अभिनय विश्वकर्मा का कहना है कि प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए दोनों सिपाहियों को सेवा से बर्खास्त किया जाएगा। इसके लिए डीसीपी ने मामले की विभागीय जांच बैठा दी है। लूटे गए रुपये की बरामदगी के लिए दोनों सिपाहियों की रिमांड मांगी गई है।

ये है मामला

डीसीपी जोन-4 आरके सिंह के मुताबिक, चंदननगर थाने के सिपाही योगेश सिंह चौहान और दीपक यादव को गिरफ्तार किया है। मामला 23 दिसंबर का है। इन दोनों सिपाहियों ने बस को रोका और चालक नरेंद्र तिवारी से 14 लाख रुपये से भरा पार्सल छीन लिया। दोनों ने चालक को धमकाते हुए कहा था कि पार्सल की जांच की जाएगी। इसके लिए पार्सल की थाने ले जाकर जब्ती दर्शाना है। इसके बाद दोनों सिपाहियों ने रुपये आपस में बांट लिए।मंगलवार को टीआइ इंद्रमणि पटेल ने बस चालक नरेंद्र तिवारी को पूछताछ के लिए बुलाया तो उसने कहा कि रुपये तो पुलिसवालों ने लूटे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *