तू दो कौड़ी का पुलिसवाला, तुझमें इतने जूते लगाऊंगा…’, BJP के पूर्व पार्षद की पुलिसकर्मियों से बदसलूकी

मध्य प्रदेश के ग्वालियर में पुलिसकर्मियों को बुरी तरह धमकाने का मामला सामने आया है. बीजेपी के पूर्व पार्षद की इस बदसलूकी का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है. यह वीडियो गोसपुरा नंबर-1 का है और पूर्व पार्षद का नाम गुड्डू रत्नाकर बताया गया है. शराबियों के उत्पात की सूचना मिलने पर ग्वालियर पुलिस मौके पर गई थी. जिसके बाद यह पूरा विवाद शुरू हुआ था.

दरअसल, ग्वालियर के वार्ड-11 में गोसपुरा नंबर-1 में पुलिसकर्मियों का पूर्व पार्षद गुड्डू रत्नाकर के साथ विवाद हो गया. पुलिस को सूचना मिली थी कि गोसपुरा नंबर 1 में कुछ शराबी लोग खुलेआम शराब पी रहे हैं. इस सूचना पर से पुलिस मौके पर पहुंची थी. पुलिस ने अनुज नाम के एक लड़के को पकड़ भी लिया था. तभी वार्ड 11 का पूर्व पार्षद गुड्डू रत्नाकर वहां पहुंच गया.  उसने पुलिसकर्मियों के साथ जमकर बदसलूकी की.

यही नहीं, वहां मौजूद एक लड़की पर इस बात का दबाव बनाया कि वह पुलिसकर्मियों पर छेड़खानी का आरोप लगाए. इस दौरान गुड्डू रत्नाकर ने एक पुलिसकर्मी से बदसलूकी करते हुए कहा- ”तू दो कौड़ी का पुलिसवाला, तुझे अभी इतने जूते लगाऊंगा.”

पुलिसकर्मियों ने इस मामले वीडियो भी बनाया. इसके बाद पुलिस और पार्षद के बीच जमकर विवाद हुआ. यह विवाद थाने तक पहुंचा, जहां पुलिस ने पकड़े गए लड़के अनुज का मेडिकल करवाया और इसके बाद उसे जाने दिया.

इस मामले में एडिशनल एसपी गजेंद्र सिंह वर्धमान का कहना है कि पुलिस को सूचना मिली थी कुछ लोग खुलेआम शराब पी रहे हैं. सूचना पर पुलिस गई थी. एक को पकड़ भी लिया था. लेकिन वहां पूर्व पार्षद आ गए. उनका पुलिसकर्मियों से विवाद हुआ और मामला थाने तक पहुंचा. पकड़े गए अनुज का मेडिकल करवा कर उसे अभी छोड़ दिया गया है. मामले की जांच की जा रही है.

हालांकि, इस मामले में पूर्व पार्षद गुड्डू रत्नाकर का कहना है कि उनकी पुलिसकर्मियों के साथ कोई मारपीट नहीं हुई है. पुलिसकर्मी अनुज के साथ मारपीट कर रहे थे और वह वहां पर पहुंच गए थे. इसके बाद मामला थाने पहुंचा. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हम अब किसी के खिलाफ कोई शिकायत नहीं करना चाहते हैं. कुल मिलाकर भाजपा के पूर्व पार्षद की दबंगई के सामने पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर सकी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *